1,307 buildings under Bhiwandi Municipal Corporation area are dangerous

    भिवंडी. भिवंडी महानगरपालिका (Bhiwandi Municipal Corporation) क्षेत्र अंतर्गत 1,307 इमारतें (Buildings) धोखादायक (Dangerous) करार दी गई है। मनपा प्रशासन द्वारा इमारतों के मालिकों को नोटिस (Notice) भेजकर आवश्यक दुरुस्ती कार्रवाई किए जाने का कड़क निर्देश दिया है। मनपा अतिक्रमण विभाग द्वारा बरसात में हादसे से बचाव के लिए करीब 2 दर्जन से अधिक अति जर्जर इमारतों को रहिवासियों से खाली कर तोड़कर जमींदोज कर दिया गया है।

    मनपा शहर विकास विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, भिवंडी मनपा स्थित 5 प्रभाग समितियों की हद्द में करीब 30 वर्षों से अधिक पुरानी कुल 1,307 इमारतें समुचित जांच के उपरांत धोखादायक घोषित की गई हैं। नोटिस के उपरांत 221 इमारतों के मालिकों द्वारा स्ट्रक्चरल ऑडिट की रिपोर्ट मनपा को सौंपी गई है। अति जर्जर घोषित 25 इमारतों को तोड़ दिया गया है। 43 इमारतों को रहिवासियों से खाली कराया गया है। रहिवासियों की सुरक्षा के लिए 282 इमारतों की पानी-बिजली काट दी गई है।12 इमारतों पर हाईकोर्ट का स्टे है। 30 इमारतों की स्ट्रक्चरल स्थायित्व सर्टिफिकेट इमारत रहिवासियों द्वारा दिया गया है। 

    गैस कनेक्शन काटने के लिए लिखा पत्र

    पुलिस प्रशासन को 992 इमारतें खाली कराने का पत्र दिया गया है। आश्चर्यजनक है कि 4 इमारतें मनपा कर्मियों द्वारा खाली कराए जाने के बावजूद लोग झगड़ा कर पर्यायी व्यवस्था न होने का हवाला देते हुए जान जोखिम में डालकर रह रहे हैं। मनपा प्रशासन द्वारा एहतियाती कदम उठाते हुए 634 इमारतों का गैस कनेक्शन काटने के लिए गैस कंपनियों को पत्र लिखा गया है।

    …तो होगी कार्रवाई

    मनपा प्रभाग समिति क्रमांक 1-110, मनपा प्रभाग समिति क्रमांक 2-194, मनपा प्रभाग समिति क्रमांक 3-421, मनपा प्रभाग समिति क्रमांक 4- 282 व मनपा प्रभाग समिति क्रमांक 5 की हद्द में 300 इमारतें धोकादायक घोषित की गई हैं। मनपा प्रशासन द्वारा धोकादायक इमारतों को कैटेगरी के अनुसार दर्शाया गया है। रहिवासियों से खाली कर तोड़ने वाली जर्जर 541 इमारतों को C1 सूची में डाला गया है। रहिवासियों से खाली कर रिपेरिंग करने वाली 446 इमारतों को C2A सूची में एवम रिपेरिंग हेतु 232 इमारतों को C2B सूची व कुछ भाग रिपेरिंग कर रहिवासियों के लिए सर्बथा सुरक्षित 24 इमारतों को C3 सूची में शामिल कर रहिवासियों को आवश्यक दुरुस्ती किये जाने का निर्देश दिया गया है।मनपा द्वारा 875 इमारतों का पंचनामा किया गया है। शहर विकास विभाग प्रमुख साकिब खरबे ने चेतावनी दी है कि धोखा दायक इमारतों की दुरुस्ती के लिए मनपा द्वारा निर्देशित नियमों का पालन करें अन्यथा नियमों के तहत कार्यवाही की जाएगी। उक्त संदर्भ में मनपा कमिश्नर डॉ. पंकज आसिया का कहना है कि धोखादायक इमारतों के मालिकों को नोटिस देकर आवश्यक उपाय योजना का आदेश दिया है। आदेश का अनुपालन नहीं होने पर इमारत मालिकों के ऊपर सख्त कार्रवाई की जाएगी।