नाकाबंदी के दौरान कार से 3 गाय बरामद

  • 5 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

भिवंडी. महाराष्ट्र सरकार द्वारा गौवंश की हत्या पर बंदी लागू होने के बावजूद भिवंडी में चार पहिया यात्री वाहनों में गौवंश को बेहोश कर बिक्री हेतु लाने की कई घटनाएं उजागर हो चुकी हैं. लाख प्रयासों के उपरांत भी गौवंश की तस्करी पर भिवंडी पुलिस पूरी तरह अंकुश लगाने में असफल रही है. भिवंडी तालुका पुलिस ने नदीनाका में नाकाबंदी के दौरान एक तवेरा कार से 3 जिंदा गाय बरामद की हैं और पुलिस के भय से चेकिंग के पूर्व ही आरोपी भागने में सफल रहे. पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले की तहकीकात व फरार आरोपियों की तलाश कर रही है.

मिली जानकारी के अनुसार मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर भिवंडी ग्रामीण पुलिस द्वारा नदीनाका पर लगाये गये नाकाबंदी के दौरान तवेरा कार से 3 जिंदा गाय को बरामद किया. नदीनाका पर नाकाबंदी को देखते हुए गाड़ी में बैठे 4 लोग नाकाबंदी प्वाइंट के पूर्व ही पुलिस को चकमा देकर गाड़ी से कूदकर फरार होने में सफल रहे. पुलिस द्वारा गाड़ी की तलाशी लेने पर तवेरा कार में सीटों को निकाल कर 3 गाय बेहोश कर अंदर बांधकर रखी गई थी, जिनकी बाजार कीमत लगभग 32 हजार रुपये आंकी गयी है.

भिवंडी ग्रामीण पुलिस ने पशु चिकित्सा अधिकारी को बुलाकर गाड़ी में जबरन बांधकर रखी गयी तीनों गाय का उपचार कराया व आनगांव श्रीगोपाल गौशाला में भेज दिया है. उक्त मामले में पुलिस ने अब्दुल्ला मौला शेख निवासी नवी बस्ती, गुडडू, नदीम, जमील व गाड़ी चालक, मालक सहित 5 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. अब्दुल्ला मौला शेख के नाम जब्त तवेरा कार से 3 मोबाइल, गाड़ी, पैन कार्ड, इलेक्शन कार्ड आदि पहचान पत्रों के साथ 4 जाली नंबर प्लेट सहित भारी संख्या में बेहोशी के इंजेक्शन, स्टील राड और पत्थरों से भरा थैली बरामद किया गया है.

गौ तस्करों पर कड़ी कार्रवाई की मांग

जिला प्राणिकलेश प्रतिबंधक सोसायटी सदस्य अशोक जैन ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार द्वारा गौवंश की हत्या पर बंदी लागू किये जाने के बावजूद गौवंश तस्करी में लिप्त अराजक तत्वों पर कड़ा शिकंजा कसा जाना जरूरी है.