अवैध निर्माण वसूली मामले में और 3 लोग गिरफ्तार

टीवी पत्रकार सहित 2 लोग शामिल

भिवंडी. भिवंडी पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे बिल्डर लाबी को धमकाकर वसूली कार्यों में लिप्त वसूली कर्ताओं की टोली को लेकर बेहद सख्त हो गए हैं. बिल्डर से हफ्ता मांगे जाने की शिकायत पर शहर पुलिस ने टीवी पत्रकार सहित 3 लोगों को गिरफ्तार किया व भिवंडी कोर्ट में पेश किया, जहां से 3 अक्टूबर तक पुलिस कस्टडी में रखा गया है.

शांतिनगर पुलिस स्टेशन अंतर्गत नागांव क्षेत्र में अर्च रेसीडेंसी निर्माणकर्ता बिल्डर मो. अनीस अंसारी ने शिकायत की कि 2017 में इमारत निर्माण शुरू किये जाने के दौरान ही रियाज हसन शेख, हमीद सत्तार शेख, खालिद गुड्डू, अरविंद जैसवार की टीम ने 29 लाख रुपये की डिमांड की. अन्यथा हाईकोर्ट में याचिका दायर कर निर्माण को गिराने की धमकी दिया. बिल्डर मो. अनीस अंसारी के अनुसार निर्माण को जमींदोज होने से बचाने हेतु 12 लाख रुपये खालिद गुड्डू सहित उनकी गैंग को दिया जा चुका है.

शिकायत के अनुसार, रियाज शेख ने फिर कुछ समय उपरांत खालिद गुड्डू के हवाले से फोन करते हुए 5 लाख रुपये फौरन दिए जाने की मांग की, जिसे नहीं पूरी किये जाने पर हाईकोर्ट में याचिका सहित गुड्डू व पत्रकार अरविंद जैस्वार द्वारा बिल्डर मो. आलम अंसारी सहित पार्टनर तौफीक सय्यद को जान से मारे जाने की धमकी दी. बिल्डर की शिकायत पर ठाणे क्राइम ब्रांच व शांतिनगर पुलिस ने संयुक्त कार्यवाही कर बिल्डर से हफ्ता वसूली व जान से मारने की धमकी दिए जाने के अपराध में सिराज हसन शेख, हमीद सत्तार शेख व टीवी पत्रकार अरविंद जैस्वार को दबोचकर कानून के हवाले किया व न्यायालय में पेश कर 3 अक्टूबर तक पुलिस कस्टडी प्राप्त की है.

बिदित हो कि 3 दिन पूर्व ठाणे क्राइम ब्रांच, शहर पुलिस की संयुक्त कार्यवाही में एमआईएम शहर अध्यक्ष शेख खालिद गुड्डु, इफ्तेखार मुख्तार शेख उर्फ बबलू उर्फ कानिया, गुलाम खान, फैज आलम सहित 4 लोगों को 1 लाख रुपये वसूली की रकम लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है, जिन्हें 2 अक्टूबर तक पुलिस कस्टडी में रखे जाने का आदेश है.

भिवंडी पुलिस का शहरवासियों से आह्वान

भिवंडी शहर में अनधिकृत बांधकाम करने वाले बिल्डर्स के खिलाफ तक्रार और उच्चतम न्यायालय मे रिट पिटीशन दाखिल करके बिल्डिंग गिराने की धमकी देकर तक्रार और दाखिल रिट पिटीशन वापस लेने के लिए पैसे की मांग की जाती है, ऐसा पुलिस की जांच में जाहिर हो रहा है. इसलिए अगर बिल्डिंग के कारोबार से जुड़े ऐसे लोगों को इस बारे में कोई तक्रार देनी हो तो वे बिल्कुल निडर होकर नजदीकी पुलिस स्टेशन में तक्रार दर्ज कराएं, ऐसी अपील पुलिस विभाग की तरफ से की गई है.