मनोज शेलार पर हमला करने वाले 4 आरोपी अरेस्ट

  • एक महीने में क्राइम ब्रांच को मिली सफलता

उल्हासनगर. महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना के उल्हासनगर शहर अध्यक्ष मनोज शेलार पर हुए हमले में शामिल चार आरोपियों को एक महीने बाद उल्हासनगर अपराध शाखा की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

गौरतलब हो कि 8 अक्टूबर की सुबह तकरीबन 7.30 बजे के समकक्ष अंबरनाथ पूर्व स्थित गोविंद पुल के पास मनोज शेलार और उनका एक मित्र मॉर्निंग वॉक के लिए गए थे, तभी दो मोटरसाइकिल पर आए चार लोगों ने उनपर तेज धार वाले हथियार से जानलेवा हमला किया था. इस मामले की शिकायत शेलार ने शिवाजीनगर पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई थी. अपनी शिकायत में शेलार ने बताया था कि उल्हासनगर मनपा के शिक्षा विभाग में जारी भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने के बाद ही उनपर जानलेवा हमला हुआ है.

इस मामले की तहकीकात उल्हासनगर अपराध शाखा की टीम कर रही थी, सीसीटीवी फुटेज, गुप्त सूचना आदि के आधार पर हमला करने वाले चारों आरोपियों की शिनाख्त हो गई, जिसके बाद पुलिस ने शहाड ब्रिज, बेतुरकर पाडा, कोनगाव तथा भिवंडी से साजिद मोहम्मद अकील शेख (19), दीपक हरेराम तिवारी (18), गोहीत इंद्रा कांबले (19) एवं अक्षय विनोद गिरी (20) इन चारों को गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तार आरोपियों से हमले में इस्तेमाल किए गए हथियार एवं दो मोटरसाइकिल भी पुलिस ने बरामद कर ली है.

उल्हासनगर अपराध शाखा के वरिष्ठ निरीक्षक महेश तरडे, सहायक निरीक्षक सालगुडे, संपत फडोल, पुलिस उप निरीक्षक किशोर महाशब्दे, सहायक उप निरीक्षक सुरेंद्र पवार, शाम रसाल, उदयकुमार पालांडे, जानुसिंग पवार, रमजु सौदागर, पुलिस कर्मचारी रमेश केंजले, रामचंद्र जाधव, प्रशांत तावडे, सुनिल जाधव, मधुकर माली आदि के पथक ने इस तहकीकात को अंजाम दिया. हमलावर तो पकड़े गए, पर इन्होंने किसके इशारे पर इस घटना को अंजाम दिया था, इसकी तलाश अब पुलिस कर रही है.