arrest

ठाणे. अपने जमाने की प्रसिद्ध फिल्म अभिनेत्री नूतन बहल के मुंब्रा रेतीबन्दर पहाड़ी पर स्थित बंगले में चोरी करने के लिए घुसने पर सुरक्षा रक्षकों द्वारा रोकने पर जानलेवा हमला करने वाले फरार एक आरोपी को 8 महीने बाद एक सूचना के आधार पर ठाणे अपराध शाखा ने गिरफ्तार कर लिया है.

नूतन का शानदार बंगला पहाड़ी में स्थित है, जिसका निर्माण 1965 में करवाया गया था. नूतन की मौत के बाद यह बंगला अधिकांश समय खाली ही रहता था. कभी कभार नूतन के पुत्र अभिनेता मोहनीश बहल अपने परिवार के साथ आते रहते हैं. बंगले की सुरक्षा व्यवस्था के लिए दो सुरक्षा रक्षकों की तैनाती की गई है.

3 फरवरी की रात करीब 1 बजे दो चोर चोरी की नीयत से अंदर घुस गए थे, कुत्तों के भोंकने के बाद  सुरक्षा रक्षक भानुदास दुधभाते तथा रूपसिंह विश्वकर्मा उस जगह पर पहुँचे तो चोरों ने घात लगाकर दोनों पर जानलेवा हमला कर दिया था, इस हमले में दोनों सिक्योरिटी गार्ड बुरी तरह जख़्मी हो गए थे, इलाज के दौरान गंभीर रूप से घायल भानुदास की मौत हो गयी थी.

शिकायत के आधार पर मुंब्रा पुलिस ने आरोपी संजय भंडारी  को कलवा के भास्कर नगर परिसर से गिरफ्तार कर लिया था वहीं दूसरा आरोपी काणया उर्फ गणपत स्वामी गूलर (मद्रासी) फरार हो गया था. ठाणे अपराध शाखा एक की टीम आरोपी को पकड़ने के लिए लगातार प्रयास कर रही थी. आरोपी कलवा के बिटावा परिसर में आने वाला है, इस सूचना के आधार पर अपराध शाखा के एपीआई उदय देसाई की टीम  ने जाल बिछाकर आरोपी स्वामी गूलर को गिरफ्तार कर लिया है औऱ मुंब्रा पुलिस के हवाले कर दिया है.