स्कूल शुरू करने से पहले छात्रों की सुरक्षा का इंतजाम करें

गणेश नाईक की मनपा आयुक्त से मांग

नवी मुंबई. पूर्व मंत्री एवं भाजपा विधायक गणेश नाईक ने नवी मंबई मनपा आयुक्त एवं शिक्षण अधिकारी से स्कूलों को शुरू करने से पहले छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की है. गणेश नाईक ने खत लिखकर महानगर पालिका आयुक्त और शिक्षण मंडल अधिकारी से व्यहारिक शिक्षण शुरू करने एवं कोरोना से छात्रों के बचाव के लिए जरूरी इंतजाम करने की मांग की है. मिली जानकारी के अनुसार राज्य सरकार ने सभी स्कूलों को चरण बद्ध तरीके से खोलने विशेष कार्यपद्धति तैयार की है. जिसके अनुसार कोरोना लॉकडाउन के बीच स्कूलों को संचालित किया जाएगा.

ऐरोली के भाजपा विधायक गणेश नाईक ने सरकार की इन तैयारियों की सराहना करते हुए कुछ सवाल भी उठाए. उन्होंने कहा कि अभिभावक अभी भी अपने बच्चों को स्कूल भेजने से डर रहे हैं. उन्हें भय है कि बच्चों को कोरोना हुआ तो हालात बिगड़ जाएंगे. इसलिए छात्रों की सुरक्षा करना प्राथमिकता होनी चाहिए. बता दें कि गणेश नाईक की मांग नवी मुंबई मनपा और प्राइवेट संस्थानों द्वारा संचालित सभी स्कूलों के लिए हैं जहां हर साल 15 जून से क्लासेस शुरू हो जाते थे लेकिन कोरोना लॉकडाउन के चलते फिलहाल वहां ताले लगे हैं.

आनलाईन शिक्षण से 80 फीसदी पालक नाखुश

गणेश नाईक ने कहा कि राज्य सरकार ने आनलाईन एजुकेशन शुरू किया है हालांकि इसमें तमाम त्रुटियां हैं जिनकी वजह से 80 फीसदी से अधिक अभिभावक नाखुश हैं. वहीं ग्रामीण इलाकों में एवं शहरों में गरीब छात्रों के पास स्मार्ट फोन, इंटरनेट सेवा एवं नेटवर्क आदि की तमाम परेशानियां हैं. ऐसे में उन्हें आनलाईन शिक्षण देना कठिन हो रहा है. जो पढ़ाई कर रहे हैं उन छात्रों को घंटों तक मोबाईल में देखते रहने से मानसिक परेशानी भी पैदा होने लगी है जो उनकी सेहत पर गंभीर परिणाम पैदा कर सकता है.उन्होंने प्राइवेट स्कूलों की फीस को भी नियंत्रित करने एवं उसमें भी रियायत देने की मांग की है.