Arrangements should be made to accommodate the people living in the fraudulent building at the Tata invitation

    उल्हासनगर. शहर में वर्तमान समय में धोखादायक बिल्डिंगों का अहम मुद्दा है। उल्हासनगर महानगरपालिका (Ulhasnagar Municipal Corporation) द्वारा इन बिल्डिंगों को खाली कराए जाने से बड़े पैमाने पर लोग बेघर हो रहे है। महानगरपालिका में सत्तारूढ़ महाविकास आघाडी (Mahavikas Aghadi) की सहयोगी पार्टी टीओके (TOK) ने राज्य सरकार से भिवंडी (Bhiwandi)बायपास पर म्हाडा (MHADA) के टाटा आमंत्रण में उल्हासनगर के लोगों के लिए 500 फ्लैट उपलब्ध कराए जाने की मांग की है।

    मनपा में टीओके के नगरसेवक मनोज लासी ने इस संदर्भ में अधिक जानकारी देते हुए बताया कि बुधवार को टीओके अध्यक्ष ओमी कालानी ने ऊक्त मांग राज्य के गृहनिर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड से की है। 

    ओमी कालानी ने लिखा मंत्री आव्हाड को पत्र

    ओमी कालानी ने अपने पत्र में लिखा है कि उल्हासनगर में दर्जनों बिल्डिंगो के पानी व बिजली का कनेक्शन काट दिए गए है व आगे भी काटे जाने की प्रक्रिया जारी रहने की संभावना है। जिससे लोग अंधेरे में रहने पर मजबूर है व पानी के लिए उन्हें पांच मंजिल नीचे आना पड़ रहा है। इसलिए जब तक इन लोगों का रहने का स्थायी समाधान नहीं हो जाता तब तक टाटा आमंत्रण में लगभग 500 लोगों की रहने का इंतजाम कराया जाए।