कंपनी में हाथ गंवाने वाले अरुण गुंजाल को मिला न्याय

शैलेश तिवारी ने कंपनी मालिक से दिलाए 3 लाख रुपए

उल्हासनगर. स्थानीय कैम्प क्रमांक 4 स्थित एक नेशनल  बिस्कुट कंपनी में काम करते समय कंपनी के कर्मचारी अरुण रंगनाथ गुंजाल (55) का हाथ मशीन में चले जाने से उन्हें अस्पताल में इलाज के लिए लंबे समय तक भर्ती होना पड़ा था. कंपनी प्रबंधन ने शुरू में इलाज कराया लेकिन बाद में मुआवज़े देने से कर्मचारी गुंजाल को मना कर दिया था.

पीडित अरुण गुंजाल के पुत्र मनोज गुंजाल ने जब इस समस्या को लेकर  राष्ट्र कल्याण पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष शैलेश तिवारी से संपर्क किया  व पूरी घटना बताई व कहा कि कंपनी में काम करते समय उनके पिता का दाहिना हाथ मशीन में चला गया था. अब उनका यह हाथ हमेशा के लिए बेकार हो गया है और उस के बावजूद कंपनी मालिक  पीड़ित अरुण गुंजाल को मुआवज़े दिए जाने से सीधे तौर पर इंकार कर रहा है.

सारी हकीकत जानने के बाद शैलेश तिवारी ने बिस्कुट कंपनी के संपर्क किया व विस्तृत चर्चा की. आखिर लंबी चर्चाओं व मीटिंग के बाद बुधवार 30 सितंबर की शाम शिवसेना के शहर प्रमुख व उल्हासनगर मनपा के सभागृह नेता राजेंद्र चौधरी तथा राष्ट्र कल्याण पार्टी के अध्यक्ष शैलेश तिवारी की मौजूदगी में कंपनी के पार्टनर दीपक नागपाल के पुत्र ने 3 लाख का चेक पीड़ित के पुत्र मनोज गुंजाल को प्रदान किया.