beating in front of the police station, find out what the case is

    भिवंडी. भिवंडी तालुका (Bhiwandi Taluka) स्थित इताड़े गांव (Itade Village) में चुनाव के समय हुई पुरानी दुश्मनी को लेकर के मध्यरात में दो गुटों में मारपीट हुई। पुलिस (Police) में शिकायत (Complaint) और अस्पताल जांच के उपरांत घर लौट रहे लोगों पर फिर विरोधी गुट ने  पुलिस स्टेशन के गेट के सामने अपने साथियों के साथ मिलकर लाठी-डंडे और चाकू से जानलेवा हमला कर घायल कर दिया। पडघा पुलिस ने घटना में लिप्त भाजपा युवा मोर्चा ठाणे जिला ग्रामीण कार्याध्यक्ष व सरपंच जगन पाटिल सहित 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

    मिली जानकारी के अनुसार, पडघा पुलिस स्टेशन के अंतर्गत इताड़े गांव के रहने वाले आकाश पाटिल की जगन पाटिल से चुनाव के समय में दुश्मनी हो गई थी, जिसे लोगों ने मध्यस्था करके समझौता करा दिया था। सूत्रों के अनुसार, रात के समय आकाश अपने भाई अजय व विशाल के साथ मामा के घर भोजन करने गया था। आधी रात के करीब वह मोटरसाइकिल से वापस घर आ रहा था। किरवली गांव के बस स्टाप पर जगन पाटिल, साईनाथ पाटिल, नागेश पाटिल व अन्य लोगों ने आकाश को रोक कर उस पर लकड़ी डंडे व लोहे के राड से हमला कर बुरी तरह से जख्मी कर दिया। पीछे से मोटरसाइकिल पर आ रहे अजय व विशाल मारपीट होते देख कर अपनी जान बचाकर भाग निकले। अजय और विशाल गंभीर रूप से घायल अपने भाई आकाश को लेकर पड़घा पुलिस में शिकायत दर्ज करने पहुंचे। 

    सिपाहियों ने बचाई जान

    पुलिस ने उन्हें सुबह होने पर इलाज के लिए पडघा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर भेजा, जहां से वह तीनों प्राथमिक उपचार लेकर सुबह करीब 8:30 बजे वापस पुलिस स्टेशन आ रहे थे। शिकायतकर्ता के अनुसार पुलिस स्टेशन के पास पहले से खड़े जगन पाटिल ने आकाश को धमकी देते हुए कहा कि तू मेरे विरोध में शिकायत किया है मैं तुझे जिंदा नहीं छोडूंगा। उक्त धमकी देते हुए जगन पाटिल व उनके साथी किशोर मेहर, साईनाथ पाटिल,नागेश पाटिल, राकेश पाटिल, नवनाथ भोईर, एकनाथ पाटील व अन्य 4-5 अज्ञात लोगों ने लकड़ी के डंडे, लोहे की सरिया व पीठ पर चाकू से फिर से जानलेवा हमला कर दिया। घटना के समय हो रहे शोर-शराबे को सुनकर पड़घा पुलिस स्टेशन पर तैनात सिपाहियों ने दौड़ कर आकाश की जान बचाई। इस प्रकरण को लेकर अजय ने पड़घा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई। पड़घा पुलिस ने जगन पाटिल व उनके साथियों को हिरासत में लेते हुए उनके विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 307 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।