पवार की आलोचना करने वाले विधायक पडालकर की तस्वीर जलाई

ठाणे. एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में राकां सुप्रीमो और राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार की आलोचना करने से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता गोपीचंद पडालकर के रवैए के खिलाफ नाराज हैं. ठाणे में पडालकर के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए गृह निर्माण मंत्री  जितेंद्र आव्हाड के मार्गदर्शन में शहर अध्यक्ष आनंद परांजपे के नेतृत्व में राकां कार्यकर्ताओं ने पडालकर के चित्र को जलाया.

भाजपा विधायक गोपीचंद पडालकर ने शरद पवार की आलोचना करते हुए कहा कि शरद पवार महाराष्ट्र के कोरोना हैं. उन्होंने बहुजन समाज के लोगों के साथ अन्याय किया उनकी टिप्पणी से राकां कार्यकर्ता नाराज हैं. डॉ. जितेंद्र आव्हाड के मार्गदर्शन में शहर अध्यक्ष आनंद परांजपे और कार्यकर्ताओं ने पडालकर की फोटो को आग लगा दी. इस समय कार्यकर्ताओं ने पडालकर के विरोध में नारेबाजी की.

इस मौके पर परांजपे ने कहा कि शरद पवार को देश में एक राजा के रूप में जाना जाता है. उन्होंने बहुजन समाज के नेतृत्व को आकार देने में एक प्रमुख भूमिका निभाई है. दलित, आदिवासी, भटके-विमुक्त समुदाय के कई कार्यकर्ताओं को बनाने और उन्हें संवैधानिक पद दिलाने में मंत्री पद देने में शरद पवार की हिस्सेदारी है.

पडालकर जैसे लोग जो अक्सर स्वार्थी  के लिए मेंढकों को छलांग भरते हैं यह कभी भी शरद पवार के महत्व और अधिकार को नहीं समझेंगे. उन्होंने अपने नेताओं को खुश करने के लिए यह आलोचना की है. राकां कार्यकर्ता इस आलोचना को बर्दाश्त नहीं करेंगे. परांजपे ने कहा अगर वह तुरंत बयान के लिए जब माफी नहीं मांगेंगे तब तक हम पाडलकर को माफ नहीं करेंगे. साथ ही पडालकर को ठाणे में पैर रखने की अनुमति नहीं देंगे. इस अवसर पर ब्लॉक अध्यक्ष समीर पेंढरे और वार्ड अध्यक्ष सुभाष आंगरे सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थीं.