lockdown
file

    कल्याण. कल्याण-डोंबिवली (Kalyan-Dombivali) में कोरोना मरीजों (Corona Patients) की बढ़ती संख्या को देखते हुए महानगरपालिका कमिश्नर डॉ.  विजय सूर्यवंशी (Dr. Vijay Suryavanshi) द्वारा कोरोना प्रसार रोकने के लिए कई सख्त प्रतिबंध लगाए गए हैं। कमिश्नर ने दुकानों को सुबह 7 से शाम 7 बजे तक खुला रखने और शनिवार और रविवार को पी 1 और पी 2 के अनुसार दुकानें (Shops) खुली रखने का आदेश दिया है, वहीं व्यापारियों ने आरोप लगाया है कि केडीएमसी अधिकारी खुद उलझन में थे क्योंकि उन्हें नहीं पता था कि सड़क के किस हिस्से को पी 1 और पी 2 के रूप में जारी रखना है। आक्रोशित व्यापरियों ने बताता कि शनिवार को हमें पी 1 के तहत  दुकानें खुली रखने के लिए कहा गया था, लेकिन फिर सुबह उन्होंने हमें दुकानें बंद करने के लिए कह दिया है। 

    कल्याण-डोंबिवली में कोरोना रोगियों की बढ़ती संख्या को रोकने के लिए कई उपाय किए जा रहे हैं। कई सख्त प्रतिबंध भी लगाए गए हैं। दुकानें सुबह 7 से शाम 7 बजे तक खुली रहेंगी और होटल और बार सुबह 7 से 11 बजे तक खुले रहेंगे। 11 बजे तक होटलों को खोलने के आदेश पर भी व्यापारियों में नाराजगी है। इसके अलावा सड़क के एक तरफ की दुकानें जैसे P 1 और P 2 शनिवार और रविवार को खुली रहती हैं और एक तरफ की दुकानें बंद रहती हैं।  हालांकि, इस आदेश को लागू करते समय, KDMC अधिकारी उलझन में हैं कि किस पक्ष को P1 होना चाहिए और किस पक्ष को P2 होना चाहिए।

    P1/ P2 के बारे में उचित जानकारी दी जा रही है 

    कल्याण-आगरा रोड पर भिवंडी दिशा में दुकानदारों को शनिवार को अपनी दुकानें खुली रखने के लिए कहा गया।  दुकानदारों ने भी दुकानें शुरू की, लेकिन जब दुकानें खुलीं, तो केडीएमसी के अधिकारियों ने आकर उनसे आगे की दुकान  को बंद करने का का आदेश दिया। इससे नाराज दुकानदारों ने एकजुट होकर केडीएमसी प्रशासन के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर किया। जब शाम 7 बजे दुकान बंद हो जाती है, तो उस समय पर दुकान में ग्राहक होने पर भी पुलिस और केडीएमसी दुकान को बंद करने के लिए मजबूर करते हैं। व्यापारियों ने बताया कि चाहकर भी  दुकान के शटर बंद नहीं कर सकते क्योंकि कभी कभार दुकान में महिला ग्राहक भी होते हैं। दुकानदारों ने बताया कि केडीएमसी प्रशासन दुकानदारों से इस संबंध में कुछ समय के लिए सहयोग करने के लिए कह रहा है। इसी बीच, मनपा के क प्रभागक्षेत्र अधिकारी भागाजी भांगरे से जब इस बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि पुलिस के साथ बैठक करके इस संबंध में एक समाधान पर काम किया गया है और लाउडस्पीकर के माध्यम से व्यापारियों को P1/ P2 के बारे में उचित जानकारी दी जा रही हैं।