नगर पालिका चुनाव की तैयारी में जुटे उम्मीदवार

  • चुनाव की तारीख की घोषणा अभी तक नहीं
  • इच्छुकों ने दीवाली के माध्यम से मतदाताओं से साधा संपर्क
  • किसी ने मिठाई तो किसी ने मिठाई और साडी बांटी

अबंरनाथ. अंबरनाथ नगर पालिका (नपा) के जन प्रतिनिधियों का कार्यकाल समाप्त हुए 6 महीने का अर्सा बीत चुका है. विगत अप्रैल में ही आम चुनाव होने थे, लेकिन कोरोना के कारण आम चुनाव स्थगित कर दिए गए थे. कोरोना के कम होते प्रभाव और नपा प्रशासन द्वारा जिस प्रकार से आगामी चुनाव को लेकर अंदरूनी तौर पर प्रक्रिया शुरू की है उसकी जानकारी मिलते है चुनाव लड़ने के इच्छुकों ने अपने अपने प्रभाग में एक बार फिर से मतदाताओं के बीच जाकर मेल मिलाप शुरू कर दिया है. 

हाल ही में दीवाली पर्व के दौरान यह सब नजदीक से देखने को मिला. अन्य वार्डो की तुलना में हिंदी भाषी मतदाता बहुल वाले वार्ड बुवापाडा में भी अभी से इच्छुक उम्मीदवारों ने दीवाली का माध्यम बनाकर मतदाताओं से डोर-टू-डोर संपर्क किया. किसी ने मिठाई तो किसी साड़ी और मिठाई दोनों चीज देकर दीवाली की हार्दिक बधाई दी. चुनावी संग्राम में मौका तलाशने की तैयारी के चलते कुछ भावी उम्मीदवारों द्वारा नकद दीवाली बांटने की बात सुनने को मिली है. वर्तमान समय में नपा का कामकाज  प्रशासक और नपा मुख्याधिकारी की देखरेख में चल रहा है. 

सक्रिय हो गए है राजनीतिक दल के पदाधिकारी 

वैसे वर्ष 2020 के नपा के आम चुनाव की संभावना को लेकर वार्ड की रचना और उन वार्डो के आरक्षण निश्चित हो जाने के बाद विविध राजनीतिक दलो से जुड़े सबंधित लोगों और निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ने और लड़ाने वालों ने तैयारियां प्रारंभ कर दी थी, कि इस बीच मार्च के अंत में कोरोना की बीमारी फैलने के बाद चुनाव आगे ढकेल दिए गए थे. कोरोना के प्रारंभिक समय में लोगों ने चुनाव और सामाजिक प्रतिबद्धता के कारण गरीब तबके के लोगों को अच्छी खासी मदद की. लेकिन चुनाव की सुगबुगाहट होते ही दीवाली के पर्व के जरिए  राजनीतिक दल के पदाधिकारी सक्रिय हो गए है.

मतदाताओं को रिझाने के लिए हर दल कोशिश में लगा 

अंबरनाथ नपा क्षेत्र में 3 वार्ड ऐसे है जहां परप्रांतीय  मतदाता निर्णायक स्थिति में है, यह किसी भी उम्मीदवार को जिताने और पराजित करने की ताकत रखते है. इसी प्रकार 4 से 5 वार्ड में मुस्लिम मतदाता भी बड़ी संख्या में है. वार्ड क्रमांक 7, 8, 9 और 10 में  परप्रांतीय वोटर अधिक है. इसलिए 7, 8 और 9 नंबर वार्ड  के मतदाताओं को रिझाने के लिए हर दल कोशिश में लगा है. इसमें वार्ड क्रमांक 7 अनुसूचित जाति के उम्मीदवार के आरक्षित है.  वार्ड नंबर 8 और 9 सर्वसामान्य वर्ग की महिला उम्मीदवार के लॉटरी पद्धति से निश्चित हुआ है. अब उत्तरभारतीयों नेताओं का पूरा ध्यान इन दो वार्डो पर है. इसमें अंबरनाथ शहर शिवसेना उत्तरभारतीय विभाग के शहर अध्यक्ष प्रमोद कुमार चौबे, शिवसेना के पूर्व नगरसेवक अरुण सिंह, कांग्रेस के पूर्व नगरसेवक सुरेंद्र यादव, मनोज शिवानंद सिंह, प्रमोद आर. पांडेय, रमाकांत मिश्रा, रविंद्र सिंह उर्फ बब्लू, भाजपा कबपूर्व नगरसेवक हीरालाल गुप्ता, बिरजू जैसवाल, भाजपा के देवेंद्र यादव, पूर्व नगरसेवक लालमन यादव आदि चुनावी समर में अपना भाग्य आजमा सकते है.