पुलिस महकमे के नाम की जाए सेंट्रल अस्पताल की जमीन

  • उल्हासनगर मनपा सभागृह नेता राजेंद्र चौधरी की मांग 

उल्हासनगर. शहर में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए सरकारी सेंट्रल अस्पताल की जमीन पर सेंट्रल पुलिस स्टेशन, पुलिस उपायुक्त परिमंडल 4 का कार्यालय और पुलिस नियंत्रण कक्ष जैसे कार्यालय पिछले कई वर्षों से उपयोग में हैं, लेकिन इस जगह का मालिकाना हक आज भी सेंट्रल अस्पताल की संपत्ति सूची में है. इसलिए उक्त कार्यालयों के इस्तेमाल वाली जमीन पुलिस महकमे के नाम पर अर्थात संपत्ति की सूची में अधिकृत रूप से दर्ज करने की मांग शिवसेना के शहर प्रमुख तथा उल्हासनगर मनपा के सभागृह नेता राजेंद्र चौधरी ने की है.     

उल्हासनगर के उप विभागीय अधिकारी जगतसिंह गिरासे को गुरुवार को दिए एक निवेदन पत्र में मनपा के सभागृह नेता राजेंद्र चौधरी ने लिखा है कि वर्तमान समय में सेंट्रल अस्पताल की कुछ जमीन पर एक निजी व्यक्तियों द्वारा अतिक्रमण किया जा रहा है. कई तरह के झूठे दस्तावेज दिखाकर सनद लेने की कोशिश में लोग लगे हैं. शिवसेना नेता चौधरी ने उपविभागीय अधिकारी से अनुरोध किया है कि उल्हासनगर कैंप 3 में सेंट्रल अस्पताल के जिन सरकारी भूखंड का उपयोग पुलिस विभाग द्वारा पिछले कई वर्षों से किया जा रहा है. उन्हें उनके नाम, स्थानों और क्षेत्रों के पंजीकरण करने की व्यवस्था की जाए.