मनपा चुनाव से पहले विकास कार्यों में श्रेय लेने की होड़

  • भाजपा और शिवसेना ने किया सड़क व पुल का अलग-अलग उद्घाटन

कल्याण. कल्याण डोंबिवली मनपा चुनाव आने से पहले ही राजनीतिक दलों में  प्रतिस्पर्धा और उनकी गतिविधियां बढ़ गई हैं.  विकास कार्यों का श्रेय लेने की शिवसेना और भाजपा में होड़ मच गई है. कल्याण पूर्व व पश्चिम को जोड़ने वाला पत्रीपुल के बाद दूसरा पुल धर्मवीर आनंद दिघे पुल की मरम्मत और उससे जुड़ी सड़क का  कांक्रीटीकरण का काम पूरा होते ही भाजपा व शिवसेना दोनों ने अपने कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों के साथ उक्त मार्ग का अलग-अलग उद्घाटन किया. दोनों पार्टियां यह दावा कर  रही हैं कि उनके प्रयास से ही पुल की मरम्मत एवं उक्त सड़क के सीमेंटीकरण का काम पूर्ण हुआ है. 

सोमवार को सुबह 9 बजे सबसे पहले शिवसेना के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने पुल के पास अपनी उपस्थिति दर्ज कराई तथा महापौर विनीता राणे, पूर्व महापौर रहेश जाधव, धनंजय बोराडे, महेश गायकवाड़, शरद पाटिल हर्षवर्धन पालांडे, सी.पी. मिश्रा, सर्वेश उपाध्याय समेत कई लोगों ने इस उद्घाटन में भाग लिया. पूर्व महापौर शिवसेना नगरसेवक रमेश जाधव ने इस अवसर पर कहा कि चार करोड़ की निधि से इस पुल व रास्ते की मरम्मत की गई है तथा नागरिकों को इससे काफी लाभ होगा.

वहीं इसके बाद में सोमवार को ही भाजपा विधायक गणपत गायकवाड़, कल्याण पूर्व भाजपा मंडल अध्यक्ष संजय मोरे, संदीप तांबे, रेखा चौधरी, प्रिया जाधव, नितिन शिंदे समेत तमाम भाजपा  पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता की मौजूदगी में भाजपा ने भी इसी सड़क व पुल  का  फिर से उद्घाटन किया. इस अवसर पर विधायक गणपत गायकवाड़ ने कहा कि पूर्व मंत्री रविन्द्र चव्हाण से पत्र व्यवहार तथा पीछे लग कर एमएमआरडीए से 4 करोड़ 35 लाख की निधि भाजपा द्वारा पास कराई गई थी तथा पुल पर बार बार गड्ढे बन रहे थे, इसके लिए मनपा से सतत सही ढंग से सड़क को बनाने के लिए प्रयास किया गया तथा पुल पर मोस्टिक का काम कराया गया तो इसका श्रेय पूरी तरह भाजपा को ही जाता है अन्य किसी भी पार्टी का इसमें कोई योगदान नहीं है. फिलहाल इस पुल व सड़क  के बन जाने से कुछ हद तक यातायात नियमित हो सकेगा और नागरिकों को  ट्रैफिक जाम से राहत मिल सकेगी.