पेट्रोल-डीजल दर वृद्धि का विरोध, कांग्रेस का पेट्रोप पंपों पर आंदोलन

ठाणे. डीजल और पेट्रोल अब महंगा होता जा रहा है. लॉकडाउन के बाद डीजल 11.75 और पेट्रोल के 12.85 रुपए तक दाम बढ़ गए हैं. आम जनता इस वृद्धि में पिसती नजर आ रही है. इसी के विरोध में ठाणे कांग्रेस की तरफ जिलाध्यक्ष विक्रांत चव्हाण के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने शहर के सभी पेट्रोल पंपों पर आंदोलन किया. साथ ही पेट्रोल पंप पर पेट्रोल और डीजल भरने के लिए आ रहे वाहन चालकों को मिठाई खिलाकर केंद्र सरकार के निषेधार्थ आंदोलन किया.

यह आंदोलन ठाणे के तीन पेट्रोल पंप पर सेवादल अध्यक्ष शेखर पाटिल, जिला इंटक कांग्रेस अध्यक्ष सचिन शिंदे, प्रदेश काँग्रेस सदस्य राजेश जाधव, सुखदेव घोलप, रविंद्र आंग्रे, गिरीश कोली, ब्लाॅक अध्यक्ष नरेंद्र कदम व निलेश आहिरे, संजय यादव, मंजूर खत्रि, स्वप्नील कोली, मिलिंद कोली की उपस्थिति में शुरुआत की गई. वहीं एलबीएस रोड पर स्थित तीन हाथ नाका पेट्रोल पंप पर प्रदेश कांग्रेस महासचिव मनोज शिंदे के नेतृत्व में विनय विचारे, राजू हैबती, शैलेश शिंदे, हिन्दुराव गलवे, रजनी पांडे की उपस्थिति में आंदोलन किया गया. 

इसी तरह शहर के खोपट परिसर में बाबूभाई पेट्रोल पंप पर ब्लाॅक अध्यक्ष संदिप शिंदे, प्रकाश मांडवकर, धर्मवीर मेहरोल, निशिकांत कोली, प्रसाद पाटिल, शिरीष घरत, अक्रम बन्नेखान, बाला घाग, सुजित पाटिल  में और घोड़बंदर रोड पर कासार वडवली पेट्रोल पंप पर रमेश इंदिसे, महेश पाटिल, श्रीकांत गाडीलकर, ठाणे युवक कांग्रेस अध्यक्ष आशिष गिरी, प्रवक्ता विनित तिवारी, राकेश यादव, ठाणे कांग्रेस के लीगल सेल के अध्यक्ष एड दरम्यान बिस्ट, शितल आहेर, उमेश सिंह की उपस्थिति में आंदोलन किया. इसी तरह शहर के मानपाड़ा, कापुरबावड़ी में भी आंदोलन किया गया. 

इस दौरान कांग्रेसियों ने “अब की बार पेट्रोल 90 पार, वाह रे वाह मोदी सरकार” पेट्रोल की दर वृद्धि रद्द हो” भाजपा सरकार के विरुद्ध नारेबाजी भी की. ठाणे कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत चव्हाण ने कहा कि लॉकडाउन के बाद डीजल 11.75 रुपए और पेट्रोल के 12.85 रुपए तक दाम बढ़े हैं. तेल कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी जारी रखी है. इसके लिए केंद्र में बैठी मोदी सरकार जिम्मेदार है.