प्याज निर्यात बंदी के विरोध में कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

ठाणे. वैश्विक महामारी कोविड 19 के कारण देश की वर्तमान स्थिति ठीक नहीं है. फिलहाल ऐसी विकट परिस्थिति में भी हमारे देश के किसान अपनी कड़ी मेहनत से बड़े पैमाने पर प्याज का उत्पादन किया है. अब प्याज का निर्यात विदेशों में कर पैसे आने के रास्ता दिखाई देता, लेकिन केंद्र सरकार ने अचानक प्याज का निर्यात बंद कर दिया.

केंद्र के इस निर्णय से प्याज के भाव में काफी गिरावट आने की आंशका है, जिसका खामियाजा देश के किसानों को भुगतना पड़ सकता है. इसलिए केंद्र के निर्यातबंदी के विरोध में ठाणे कांग्रेस ने केंद्र सरकार के खिलाफ कांग्रेस के अध्यक्ष विक्रांत चव्हाण के अगुवाई में नारेबाजी करते हुए धरना प्रदर्शन किया. भाजपा सरकार के इस घिनौने निर्णय के कारण देश के किसानों के साथ में घोर अन्याय हुआ है.

यह विरोध प्रदर्शन ठाणे जिला के कांग्रेस ऑफिस के सामने धरना प्रदर्शन किया गया. आज देश की आर्थिक परिस्थिति पूरी तरह से डगमगा गई है, ऐसी स्थिति में सरकार के इस निर्णय से किसानों को आत्महत्या करने जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है. इसलिए इसके विरोध में पूरे देश में यह आंदोलन चल रहा है. साथ ही शहर अध्यक्ष चव्हाण ने कहा केंद्र सरकार ने इस विषय पर जल्द से जल्द सही तरीके से निर्णय नहीं लिया तो इसके बाद यह आंदोलन चलता रहेगा. इस आंदोलन में महिला अध्यक्षा शिल्पा सोनोने, ठाणे कांग्रेस प्रवक्ता सचिन शिंदे, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता घोलप, युवक कांग्रेस अध्यक्ष आशीष गिरी, प्रदेश सचिव जिया शेख, मेहर संजय चौपाने, प्रभु नारायण सिंह, रमेश इन्डिसे, धर्मवीर मेहरोल सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसी मौजूद थे.