नवी मुंबई में कान्टैक्ट ट्रेसिंग घोटाला!

  • आज आयुक्त से मिलेंगे प्रवीण दरेकर

नवी मुंबई. कोरोना जांच के नाम पर नवी मुंबई मनपा के कुछ अधिकारी किस तरह धांधली कर रहे हैं और पैसे कमाने के लिए टेस्टिंग करने वाले कैसे बोगस रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं इसका बड़ा खुलासा सामने आया है. एक मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नवी मुंबई महानगर पालिका की कोविड टेस्टिंग टीम ने कान्टैक्ट ट्रेसिंग टेस्ट के दौरान कोपरखैरणे में एक ऐसे व्यक्ति की रिपोर्ट तैयार की है, जिसकी 10 साल पहले ही मौत हो चुकी है.

इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद नवी मुंबई मनपा की कोविड कान्टैक्ट ट्रेसिंग अभियान पर बड़ा सवाल खड़ा हो गया है. मामले पर बीजेपी नेता प्रवीण दरेकर ने दखल देते हुए आयुक्त से मुलाकात की तैयारी की है. आज शुक्रवार को प्रवीण दरेकर आयुक्त से मिलेंगे और कान्टैक्ट ट्रेसिंग घोटाले को लेकर चर्चा करेंगे. 

क्या है असली मामला

मिली जानकारी के अनुसार महानगर पालिका कोरोना से बचाव के लिए ऐसे लोगों की कान्टैक्ट ट्रेसिंग करा रही है, जो कभी किसी कोरोना संक्रमित के संपर्क में आए हैं. इस अभियान में कुछ टेस्टिंग टीम कर्मचारियों ने एक परिवार से मुलाकात की और रजिस्टर में नाम दर्ज करते हुए पूरे परिवार की बिना जांच किए ही निगेटिव रिपोर्ट दे दी. हालांकि गड़बड़ तब हो गयी जब जांच कराने वाले परिवार के मुखिया में अपने घर के एक ऐसे व्यक्ति का नाम दर्ज करा दिया, जिसकी पहले ही मौत हो चुकी है. और यही इस कान्टैक्ट ट्रेसिंग के घोटाले का सबूत देता है. दरअसल हर व्यक्ति की कोविड जांच के लिए कोरोना टेस्टिंग किट लगती है, जिसकी एनालिसिस के बाद रिपोर्ट तैयार होती है, लेकिन मनपा के कुछ अधिकारी इस कोरोना किट का इस्तेमाल किए बिना ही रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं. जाहिर है टेस्टिंग किट का इस्तेमाल नहीं हो रहा, लेकिन लोगों की लिस्ट के हिसाब से कोरोना उपचार बिल बन रहे हैं. फिलहाल यह कह पाना मुश्किल है कि अब तक नवी मुंबई में ऐसे कितने हजार लोगों की बोगस रिपोर्ट बनी है जबकि उस पर लाखों का खर्च दिखा दिया गया है. 

जो दोषी होगा उस पर कार्रवाई होगी 

आयुक्त अभिजीत बांगर ने इस मामले पर जांच कराने का वादा किया है. गुरुवार को मीडिया के सवाल पर मनपा प्रशासक अभिजीत बांगर ने कहा कि मनपा का लक्ष्य प्रामाणिक तौर पर कोरोना से प्रभावित और संभावित मरीजों तक पहुंचना और उनके उपचार को सुनिश्चित करना है. अगर कान्टैक्ट ट्रेसिंग में ऐसा कुछ हुआ तो उसकी जांच की जाएगी और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.