भिवंडी में कोरोना का फिर बढ़ा ग्राफ, लोग उड़ा रहे नियमों की धज्जियां

भिवंडी. भिवंडी शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र में वैश्विक महामारी कोरोना के पुनः तेजी से हो रहे प्रसार से हाहाकार मच गया है. आश्चर्यजनक है कि भिवंडी शहर एवं ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना के निरंतर बढ़ते ग्राफ के बावजूद लोगों के मन में कोरोना का भय नहीं है और लोग शासन के निर्देशों की खुल्लम खुल्ला धज्जियां उड़ा रहे हैं. भिवंडी मनपा प्रशासन एवं पुलिस सब कुछ देख समझ कर भी मूकदर्शक बनी हुई है.

शासन की तमाम कोशिशों के बावजूद भिवंडी शहर एवं ग्रामीण क्षेत्र को मिलाकर कोरोना मरीजों का कुल आंकड़ा 9 हजार के पार पहुंच गया है जो बेहद चिंताजनक है. भिवंडी शहर में करीब 300 लोग कोरोना बीमारी की वजह से मौत के मुंह में समा चुके हैं. शहर के डॉक्टरों का कहना है कि अगर यही हाल रहा तो भिवंडी शहर में फिर दो माह पूर्व वाली कोरोना स्थिति लौटने के आसार प्रबल दिखाई पड़ रहे हैं.

भिवंडी मनपा प्रशासन एवं पुलिस की कड़ी मेहनत एवं कोशिशों के बाद भिवंडी में दो माह पूर्व कोरोना का प्रतिदिन  आंकड़ा करीब 200 से घटकर 10-20 तक पहुंच चुका था, जो विगत सप्ताह से बेहद तेजी से बढ़ना शुरू होकर अर्धशतक के आंकड़े तक पहुंच चुका है. विदित हो कि जुलाई माह से कोरोना महामारी में नियंत्रण होना शुरू हुआ जो समूचे अगस्त माह तक नियंत्रित रहा. कोरोना महामारी से पीड़ित अधिसंख्य लोग बेहतर उपचार से ठीक होकर घर लौट गए, वहीं मृत्यु दर घटने से लोगों ने राहत की सांस ली थी. 

कोरोना के घटते ग्राफ से लोग हुए लापरवाह

हैरतअंगेज तथ्य है कि कोरोना के निरंतर घटते ग्राफ से शहरवासी महामारी को लेकर लापरवाह होते गए और शासन के तमाम निर्देशों की धज्जियां उड़ानी शुरू कर दी. अनलॉक के बाद शुरू हुए तमाम व्यापार, दुकान खुल जाने से भागदौड़ तेज हुई और कोरोना सुरक्षा के प्रति लोगों की लापरवाही चरम तक पहुंच चुकी है. भिवंडीकर सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन, मुंह पर मास्क न लगाते हुए कोरोना को फिर से शहर में दावत देते दिखाई पड़ रहे हैं. मनपा प्रशासन की तमाम उपाय योजनाओं के बावजूद भिवंडी शहर में कोरोना का ग्राफ विगत सप्ताह से तेजी से बढ़ रहा है. भिवंडी शहर में दहाई के नीचे तक पहुंचा कोरोना आंकड़ा अब प्रतिदिन 25- 45 मरीज मिलना फिर से शुरू हो गया जो भविष्य के लिए बेहद चिंता का विषय है.

लापरवाही दे रही फिर कोरोना को दावत

मनपा के एक अधिकारी ने बताया कि लोगों की लापरवाही को देखते हुए ऐसा लगता है कि जैसे कोरोना शहर से गायब हो गया है. स्वास्थ्य सुरक्षा के प्रति अधिसंख्यक लोग बेपरवाह हो गए हैं. सुरक्षा उपायों का पालन नहीं किए जाने से कोरोना का प्रसार बढ़ रहा है. पुलिस सूत्रों की मानें तो पावरलूम नगरी की संवेदनशीलता की वजह से पुलिस प्रशासन पर हमेशा कड़ाई न करने हेतु ऊपर से दबााव रहता है, जिसकी वजह से पुलिस चाह कर भी मूकदर्शक की भूमिका में है. भिवंडी ग्रामीण क्षेत्र में भी कोरोना का प्रसार तेजी से फैलने से लोगों में चिंता व्याप्त है. इस संदर्भ में मनपा आयुक्त पंकज आशिया ने कहा कि महामारी से बचाव हेतु लोगों को शासन के निर्देशों का पालन करना चाहिए.  कोरोना की वैक्सीन आने तक मुंह पर मास्क, 2 गज की दूरी का पालन करना बेहद जरूरी है.