महात्मा ज्योतिबा फुले जन स्वास्थ्य योजना के तहत मिले कोरोना इलाज की सुविधा

बच्चाराम रूपचंदानी ने की मांग

उल्हासनगर. सरकार के बड़े अस्पतालों सहित राज्य में नपा व मनपा के अस्पतालों में कोरोना मरीजों का इलाज किया जा रहा है. इन अस्पतालों सहित सरकारी पैनल के निजी क्षेत्र के अस्पतालों भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज महात्मा ज्योतिबा फुले जन स्वास्थ्य योजना के तहत निःशुल्क इलाज किए जाने की मांग जनजागृति फाउंडेशन के अध्यक्ष बच्चाराम रूपचंदानी ने की है. 

शुक्रवार को उक्त मांग के मुद्दे पर स्थानीय पत्रकारों से बातचीत करते हुए बच्चाराम रूपचंदानी ने कहा कि  कोविड-19 यानि कोरोना महामारी से पूरे देश का आर्थिक ढांचा चरमरा गया है, लोगों के लिए खासकर गरीबों व मध्यमवर्गीय लोगों के लिए परेशानी की बात यह है कि एक तो उनका काम-धंदा नहीं है, ऊपर से कोरोना संक्रमित होने पर खर्चीला इलाज. इसलिए मैंने संस्था के माध्यम से राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मांग की है कि कोरोना मरीजों का इलाज महात्मा ज्योतिबा फुले जन स्वास्थ्य योजना के तहत होना चाहिए. जिससे गरीब लोगों को भी कोरोना इलाज की सुविधा मिल सके.

बातचीत में रूपचंदानी ने आगे कहा कि इसमें कई अन्य संस्थाओं और राजनीतिक दलों की मांग का भी समावेश है. उन्होंने कहा कि  इस मांग पर सकारात्मक रूख दिखाते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कोविड-19 का मुफ्त इलाज इस योजना के तहत किए जाने की घोषणा भी की पर  उल्हासनगर वासियों को अभी भी इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है.