कोरोना का नाम लेकर हुआ था लापता, प्रेमिका के साथ इंदौर में मिला

कोरोना का नाम लेकर हुआ था लापता 

नवी मुंबई. कोरोना काल में जहां इस बीमारी का हर व्यक्ति के मन में खौफ बना हुआ है. वहीं तलोजा में रहने वाले एक विवाहित युवक ने अपनी पत्नी व बेटी को छोड़ने तथा प्रेमिका के साथ रहने के लिए इस बीमारी के नाम का सहारा लेकर नवी मुंबई से लापता हो गया था. जिसे वाशी पुलिस ने मध्य प्रदेश के इंदौर में रहने वाली उसकी प्रेमिका के घर से हिरासत में लिया है.

वाशी पुलिस स्टेशन से मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में अपनी पत्नी व बेटी को छोड़कर प्रेमिका के साथ इंदौर में रहने गए मनीष सुनीलचंद्र मिश्रा (28) को इंदौर से हिरासत में लिया गया है. मनीष 24 जुलाई 2020 को काम पर जाने के लिए अपने घर से निकला था. उसी रात में 10.30 बजे के दौरान उसने अपने पत्नी को मोबाइल पर कॉल करके खुद को कोरोना ग्रस्त होने की बात बताई थी.

वाशी में छोड़ी थी अपनी बाइक

पुलिस का कहना है कि मनीष ने अपनी पत्नी को कहा था कि कोरोना की वजह से अब उसके बचने की उम्मीद नहीं है. आंखों के सामने मौत नजर आ रही है. इतना कहने के बाद मनीष ने अपना मोबाइल बंद कर दिया था. इसके बाद अपनी बाइक को वाशी के सेक्टर- 17 में छोड़कर लापता हो गया था. जिसकी शिकायत उसके परिजनों ने 25 जुलाई 2020 को वाशी पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई थी. 

100 नंबर पर 2 बार किया था कॉल

वाशी पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संजीव धुमाल के मुताबिक घटना वाली रात में मनीष ने पुलिस के 100 नंबर पर 2 बार कॉल किया था. मनीष के बारे में सारी जानकारी निकालने का प्रयास किया गया. उसकी तलाश के लिए कोरोना की जांच करने वाली लैब के रिकॉर्ड की जांच की गई. सीसीटीवी के फुटेज को खंगाला गया. 

तकनीकी माध्यम से मिला सुराग

पुलिस के मुताबिक वाशी की खाड़ी में भी मनीष तलाश की गई थी, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला था. छानबीन के दौरान तकनीकी उपायों का सहारा लिया गया. जिसके आधार पर मनीष के इंदौर में होने की जानकारी मिली. जिसके आधार पर उसे इंदौर के भवरकुआं इलाके में रहने वाली उसकी प्रेमिका के घर से हिरासत में लिया गया है.