पानी की टंकी के पिलर्स में दरारें

    भिवंडी. भिवंडी महानगरपालिका (Bhiwandi Municipal Corporation) में कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नगरसेवक अरुण राऊत (Corporator Arun Raut) ने महानगरपालिका कमिश्नर डॉक्टर पंकज आशिया को लिखित पत्र भेजकर आगाह करते हुए बताया है कि भिवंडी महानगरपालिका क्षेत्र अंतर्गत आईजीएम हॉस्पिटल (IGM Hospital) के पास स्थित भिवंडी-निजामपुर शहर महानगरपालिका की 20 लाख लीटर क्षमता वाली पानी की टंकी (Water Tank) के कई मेन पिलर्स (Pillars) में खतरनाक दरारें पड़ गई हैं। जिससे पानी की यह बड़ी टंकी देखने में पूरी तरह से धोखादायक स्थिति में आ गई है।

    पानी की टंकी की जर्जर स्थिति देखकर आसपास रहने वाले नागरिकों में भय का वातावरण व्याप्त है।नगरसेवक अरुण राऊत ने उक्त पानी की टंकी की स्थिति को देखते हुए टंकी का स्ट्रक्चरल ऑडिट करा कर उसकी  रिपोर्ट के अनुसार शीघ्र अग्रिम कार्रवाई करने की मांग की है।

    पानी की टंकी धोखादायक स्थिति में

    भिवंडी महानगर पालिका कमिश्नर डॉ. पंकज आशिया को भेजे लिखित ज्ञापन में कांग्रेस वरिष्ठ नगरसेवक अरुण राऊत ने बताया है कि करीब 40 वर्ष पूर्व भिवंडी नगरपालिका ने आईजीएम हॉस्पिटल के पास 20 लाख लीटर क्षमता वाली विशाल पानी की टंकी का निर्माण कराया था। टंकी से प्रतिदिन 20 लाख लीटर पानी भरकर शहर के विभिन्न हिस्सों में पाइप द्वारा सप्लाई किया जाता है। पानी की टंकी के कई पिलर्स में खतरनाक दरारें पड़ गई हैं जिसमें  कई पिलर्स में लगी लोहे की सरिया भी दिखाई पड़ने लगी है व कुछ जगहों से सीमेंट का प्लास्टर थोड़ा-थोड़ा टूट कर गिरते दिखाई पड़ रहा है। पानी की टंकी पर चढ़ने वाली सीढ़ियां जर्जर होकर टूट कर गिर रही हैं जिससे वर्तमान समय में यह पानी की टंकी धोखादायक स्थिति में दिखाई पड़ने लगी है। टंकी के आसपास रहने वाले नागरिक कई बार टंकी के जर्जर होने की शिकायत मुझसे कर चुके हैं। टंकी की वर्तमान स्थिति को देखते हुए आसपास के रहने वाले नागरिकों में भविष्य के खतरे की आशंका को लेकर भय का वातावरण व्याप्त है। 

    शीघ्र स्ट्रक्चरल ऑडिट कर उचित कार्रवाई करने की मांग

    नगरसेवक राऊत ने बताया है कि विगत 20 सालों से जलापूर्ति विभाग विभाग द्वारा पानी की टंकी की सफाई और मरम्मत नहीं किया जा रहा जिससे पानी की टंकी के अंदर तमाम कचरा और मिट्टी भी जमा हो गई है। टंकी से दूषित पानी शहर में सप्लाई किया जा रहा है जो नागरिकों के स्वास्थ्य के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। नगरसेवक राऊत ने ज्ञापन में मनपा कमिश्नर आशिया से जर्जर होती जा रही पानी की टंकी का सुरक्षा के मद्देनजर शीघ्र स्ट्रक्चरल ऑडिट सहित उचित कार्रवाई करने की मांग की है।