भारी बारिश और तूफान से JNPT में पलटे क्रेन

नवी मुंबई. 5 अगस्त के दिन जहां अयोध्या में श्रीराम मंदिर शिलान्यास के कारण पूरे देश में मंगल का वातावरण रहा, वहीं शाम होते होते मुंबई और उपनगरों में हुई मूसलाधार बारिश ने कई ठिकानों पर तबाही भी मचाई. नवी मुंबई के पनवेल और रायगड़ जिले में तेज हवाओं के साथ कई घंटों तक भारी बारिश चलती रही जिसके चलते कई इलाकों में पेड़ गिर गए. बिजली सप्लाई बाधित रही और मोबाइल टॉवर्स भी बंद पड़ गए जिससे कई इलाकों में नेटवर्क पूरी तरह प्रभावित रहा. नवी मुंबई के बुधवार को आई बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा. हालांकि कहीं से भी किसी बड़ी परेशानी की सूचना नहीं आयी.

जेएनपीटी में 3 विशाल क्रेन टूटे

तेज हवाओं के साथ चली घनघोर बारिश का कहर उरण के न्हावा शेवा स्थित जेएपएनपीटी बंदरगाह पर देखने को मिला. मिली जानकारी के अनुसार यहां 3 विशालकाय क्रेन तूफानी हवाओं के कारण पलट गए जिससे भारी नुकसान हुआ है. 

 पोर्ट पर काम रोक दिया गया 

पुलिस कमिश्नर संजय कुमार ने ट्वीट कर यह जानकारी दी यहां जेएनपोर्ट के क्यू 6, क्यू 7 और क्यू 8 क्रेन पलट गए हैं, हालांकि कोई जनहानि नहीं हुई है. गनीमत रही कि जिस वक्त ये क्रेन पलटे उसकी चपेट में कर्मचारी नहीं आए जिससे बड़ा हादसा टल गया. फिलहाल इस दुर्घटना के बाद जेएन पोर्ट पर काम रोक दिया गया है.

कोई जनहानि नहीं : जेएनपीटी

जेएपीटी प्रबंधन ने अपनी प्रतिक्रिया जारी कर कहा कि तूफानी हवा और बारिश के कारण जनेप के निजी बंदरगाह जेएन पोर्ट के 3 क्रेन पलट गए हैं. हालांकि वहां कोई जनहानि नहीं हुई है. सभी कर्मचारी सुरक्षित हैं और क्रेन के पलटने से हुई नुकसान की समीक्षा की जा रही है.