बढ़े हुए बिजली बिलों के खिलाफ सोमवार को धिक्कार अंदोलन

उल्हासनगर. कोरोना के कारण लोगो की नौकरी व व्यापार बुरी तरह प्रभावित हुए है. लॉकडाउन के दौरान नागरिकों ने बिजली के बिल माफ करने की मांग राज्य सरकार से की थी तब सरकार ने  कुछ न कुछ छूट देने के संकेत भी दिए थे, लेकिन अब ऊर्जा मंत्री द्वारा किसी भी प्रकार की बिलो में कमी न करने की गई घोषणा से नागरिकों में नाराजगी है.

मनसे, बहुजन वंचित आघाडी के बाद अब भाजपा भी इस मुद्दे को लेकर नागरिकों के साथ हो गई है. सरकार द्वारा बिजली के बिलो में हर हाल में कटौती की जाए इस मांग को लेकर उल्हासनगर जिला भाजपा कमेटी की तरफ से लाइट के बिलों की बढ़ोतरी के विरोध में लाइट बिलों को जलाकर महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ  ‘धिक्कार आंदोलन’ करने का निर्णय लिया है.  

इस संदर्भ में उल्हासनगर जिला भाजपा के प्रवक्ता मनोज लासी ने बताया कि राज्य की शिवसेना, कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस  की आघाडी सरकार द्वारा लोगों को यह आश्वासन दिया गया था कि बिजली के  बिलो में कटौती की जाएगी, लेकिन अब सरकार के ऊर्जामंत्री  बिल कम करने की बात से मुकर रहे है और लोगो को पूरा बिल भरने का दबाव बना रहे हैं. इसलिए भाजपा नागरिको के हितों के लिए उनके साथ खड़ी है हम नागरिको के साथ मिलकर सोमवार की  दोपहर 12 बजे उल्हासनगर के विविध परिसर स्थित महकमे के आफिसो के बाहर बढ़े हुए  बिलों की होली जलाकर महाराष्ट्र सरकार का विरोध करेंगे और सरकार को बिल कम करने के लिए बाध्य करेंगे. 

मीडिया प्रभारी मनोज लासी के अनुसार उक्त आंदोलन को सफल बनाने के लिए उल्हासनगर जिला भाजपा अध्यक्ष जमनादास पुरसवानी की अध्यक्षता में भाजपा कार्यालय में बैठक आयोजित की गई थी. इस दौरान जिला पदाधिकारी मंगला चांडा, मनपा के नेता प्रतिपक्ष किशोर वनवारी, महेश सुखरमानी, राजू जगयासी के अलावा अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे. लासी ने बताया कि महावितरण के गोवेली,  एक नंबर बस स्टॉप, नेहरू चौक, खेमानी,  17 सेक्शन, साई बाबा मंदिर के समीप,  नागरानी मंदिर उल्हासनगर 4,  गांधी रोड,  प्रभाराम मंदिर उल्हासनगर 5 स्थित महकमे के ऑफिस के सामने  भाजपा द्वारा निषेध आंदोलन करने का निर्णय लिया है.