ट्रैफिक समस्या का करें निदान अन्यथा होगा आंदोलन

  • मनसे पदाधिकारियों ने मेट्रो व्यवस्थापक को सौंपा पत्र

भिवंडी. कशेली से अंजुर फाटा तक सड़क पर फैले गड्ढों की मरम्मत और मेट्रो निर्माण कार्य को लेकर हो रहे भयंकर जाम के मद्देनजर मनसे पदाधिकारियों द्वारा समस्या के निदान के लिए मेट्रो व्यवस्थापक को पत्र सौंपा गया है. मनसे पदाधिकारियों ने 1 सप्ताह के भीतर समस्या निवारण किए जाने की अपील की है अन्यथा आंदोलन किए जाने की चेतावनी दी है. 

उक्त मौके पर मनसे प्रदेश उपाध्यक्ष डी.के.म्हात्रे, ठाणे जिला सचिव संजय पांडुरंग पाटिल, माथाडी जिला अध्यक्ष भारत लक्ष्मण पाटिल, तालुकाध्यक्ष शिवनाथ भगत, वाहतूक शाखा तालुकाध्यक्ष संतोष म्हात्रे, विद्यार्थी सेना तालुकाध्यक्ष परेश चौधरी, तालुका संघटक संतोष पाटिल,मनोज म्हात्रे,हनुमान वारघडे,मिलिंद तरे,समन्वयक मनोज प्रजापति,कुलेश तरे,साईनाथ पाटिल आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे.

आवश्यक कदम उठाए जाने की मांग 

गौरतलब है कि ठाणे-भिवंडी-कल्याण शहर को जोड़ने के लिए मेट्रो प्रकल्प -05 उपक्रम का निर्माण कार्य तेजी से शुरू है. मार्ग के मध्य से पिलर का निर्माण कार्य होने से वाहनों की भयंकर होती भीड़ से यायातात जाम हो रहा है. मेट्रो रेल मार्ग निर्माण के लिए पिलर खुदाई का काम युद्धस्तर पर शुरू है. मनसे प्रदेश उपाध्यक्ष डीके म्हात्रे द्वारा मेट्रो व्यवस्थापक को सौंपे पत्र के अनुसार, कशेली से अंजूरफाटा के बीच पाया (पिलर) के लिए खोदे गए गड्ढों के कारण नागरिकों को प्रत्येक दिन ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ता है. मेट्रो निर्माण में जुटे मजदूर अनियंत्रित तरीके से कार्य कर रहे हैं जिससे मार्ग भी जगह-जगह टूट कर बिखर रहा है जिस पर चलना खतरों से खाली नहीं है. मनसे पदाधिकारियों ने मेट्रो व्यवस्थापक से कशेली से अंजुर फाटा तक मार्ग की दुरुस्ती किए जाने सहित नियमों के तहत पिलर की खुदाई कर यातायात सरल किए जाने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाने की मांग की है अन्यथा आंदोलन किए जाने की चेतावनी दिया है. मनसे पदाधिकारियों की मांग पर सकारात्मक रुख अपनाते हुए मेट्रो व्यवस्थापक ने जरूरी कदम उठाए जाने का भरोसा दिया है.