Karnataka Oxygen Shortage: Severe shortage of oxygen amid rising corona cases in Karnataka
File

    ठाणे.  कोरोना के संभावित तीसरे लहर का सामना करने के लिए जिला स्वास्थ्य विभाग (District Health Department) ने कमर कस लिया है और सारी तैयरी पूरी कर ली है।  इसके अनुसार विलगीकरण, ऑक्सीजन, आयसीयू, व्हेंटिलेटर बेड जहाँ तैयार रखने के लिए काम तेज कर दिया है, तो वहीं ग्रामीण क्षेत्र में डेल्टा वेरियंट (Delta Variant) से लिए छोटे बच्चों के इलाज हेतु बिस्तरों की भी प्रयाप्त व्यवस्था की जा चुकी है। उक्त जानकारी जिला स्वास्थ्य विभाग ने देते हुए बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में 16 सरकारी और 5 निजी अस्पतलों में सारी स्वास्थ्य सुविधाएं तैयार कर ली गई है।  इन जगहों पर कुल 4470 कोरोना संक्रमितों के साथ ही छोटे बच्चों के लिए 1245 बिस्तरों की व्यवस्था की गई है।        

    ठाणे जिले में कोरोना के पहले और दूसरे लहर में अनेकों को इलाज के अभाव में अपनी जान गंवानी पड़ी।  कहीं पर ऑक्सीजन की कमी तो कही इलाज के बिस्तर नहीं मिल रहे थे।  परंतु अब कोरोना के संभावित तीसरे लहर से निपटने के लिए पहले से ही जिला स्वास्थ्य विभाग ने तैयार करने में जुट गई है।  इस लहर से सामना करने के लिए जिला स्वास्थ्य विभाग इस बार सिर्फ शहरी स्वास्थ्य विभाग को ही मजबूत नहीं कर रही है, बल्कि ग्रामीण क्षेत्र के स्वास्थ्य ढाँचे को भी सुधारने में लगे है। क्योंकि कोरोना की तीसरी लहर इस बार अधिकतर बच्चों को अपना शिकार बनाने वाली है, ऐसी आशंका जताई जा रही है।  जिसे ध्यान में रखते हुए जिला स्वास्थ्य विभाग ने प्रत्येक अस्पताल और स्वास्थ्य केंद्रों पर छोटे बच्चों के लिए अधिक बिस्तरों की व्यवस्था की है।  

    गौरतलब है, कि ठाणे जिले अब तक वैश्विक महामारी कोरोना से करीब 5 लाख 34 हजार 590 लोग संक्रमित हो चुके है। जिनमें से 10 हजार 788 लोगों की मौत हो चुकी है और 5 लाख 18 हजार 888 लोग इस वैश्विक महामारी को मात देकर अपने घर लौट चुके है। वहीं एक्टिव मरीजों की संख्या 4914 है।  जिनका इलाज जिले के विभिन्न कोविड अस्पतालों में चल रहा है. जिसमें से 1067 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखें गए और 204 मरीजों का इलाज वेंटिलेटर पर हो राहा  है।  

    ठाणे में 200 बिस्तर अस्पतालों में तैयार 

    तीसरे लहर को ध्यान में रखते हुए डेल्टा प्लस के खतरों को भांपते हुए जिला स्वास्थ्य विभाग ने तयारी करते हुए ठाणे के मेंटल अस्पताल के सामने स्थित जगह पर 100 बिस्तर छोटे बच्चों के इलाज के लिए तैयार कर रखा है.  इसके साथ ही ठाणे महानगर पालिका के माध्यम से विवियाना मॉल के पास स्थित पार्किंग प्लाजा कोविड सेंटर में भी 100 बिस्तर छोटे बच्चों के इलाज के सुसज्जित रखा गया है।

    ग्रामीण क्षेत्र में 5715 बिस्तर तैयार 

    ठाणे जिले ग्रामीण क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले अंबरनाथ, बदलापुर और ठाणे ग्रामीण परिसर में कोरोना संक्रमित अन्य मरीजों के लिए 4470 बिस्तर और छोटे बच्चों के लिए 1245 बिस्तरों को तैयार रखा है।  उक्त जानकारी जिला स्वास्थ्य विभाग ने दी।  साथ ही बताया कि 1245 बिस्तरों में से विलगीकरण के 700 बिस्तर, ऑक्सीजन के 455 बिस्तर, आयसीयू के 50, निजी अस्पतालों में 30 आईसीयू और वेंटिलेटर के 10 बिस्तर तैयार रखा गया है।