शासन के निर्देशानुसार करें ड्यूटी, उपायुक्त ने जारी किया निर्देश

भिवंडी. भिवंडी मनपा आयुक्त पंकज आशिया के आदेश पर मनपा उपायुक्त मुख्यालय नूतन खाड़े ने लापरवाह अधिकारियों, कर्मचारियों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. मनपा उपायुक्त (मुख्यालय) नूतन खाड़े ने मनपा सेवा में कार्यरत अधिकारियों, कर्मचारियों से शासन के निर्देशानुसार ड्यूटी किए जाने का निर्देश दिया है अन्यथा मनपा नियमों के तहत कार्यवाही किए जाने की चेतावनी दी है. मनपा प्रशासन के कड़क आदेश से कामचोर, लापरवाह अधिकारियों, कर्मचारियों में हड़कंप मच गया है.

गौरतलब हो कि शासन द्वारा मनपा में कार्यरत अधिकारियों, कर्मचारियों को सुबह साढ़े 9 से साढ़े 6 बजे तक ड्यूटी पर मौजूद रहने का फरमान दिया गया है. मनपा उपायुक्त  (मुख्यालय) नूतन खाड़े ने आयुक्त पंकज आशिया के निर्देश पर मनपा सेवा में कार्यरत तमाम अधिकारियों, कर्मचारियों को कार्यालयीन कामकाज के दौरान सुबह 9 बजकर 45 मिनट तक ड्यूटी पर हाजिर होने एवं शाम 6 बजकर 15 मिनट के बाद कार्यालय से घर जाने का निर्देश दिया है.

लंच के बाद ड्यूटी पर पुनः वापस नहीं आने की मिली शिकायत

मनपा उपायुक्त खाड़े ने उक्त संदर्भ में बताया कि मनपा सेवा में कार्यरत तमाम अधिकारी, कर्मचारी लंच के बाद ड्यूटी पर पुनः वापस नहीं आते, जिसकी बारंबार शिकायत शहर के जागरूक नागरिकों द्वारा की जा रही है. मनपा अधिकारियों, कर्मचारियों को सुनिश्चित करना होगा कि सुबह 9 बजकर 45 मिनट पर मनपा कार्यालय पहुंच कर उपस्थिति दर्ज हेतु लगाई गई बायोमेट्रिक थंब मशीन में मौजूदगी दर्ज में मौजूदगी दर्ज कराएं और शाम को जाते समय भी उक्त प्रक्रिया को अवश्य दोहराया जाए. उपायुक्त नूतन खाड़े नें मनपा सेवा में तैनात कामचोर, लापरवाह अधिकारियों, कर्मचारियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि 1 माह में 3 बार देर से आने वाले अधिकारी, कर्मचारी की दंड स्वरूप 1 दिन की छुट्टी जोड़ी जाएगी और छुट्टी न होने पर वेतन काट लिया जाएगा.

मनपा सेवा में कार्यरत तमाम अधिकारी, कर्मचारी दोपहर डेढ़ से 2 बजे तक लंच कर अपने ड्यूटी पर मनपा मुख्यालय अथवा जहां भी कार्यरत हैं, वहां वापस लौट कर अपनी मौजूदगी रजिस्टर में अवश्य दर्ज कराएं. अधिकारियों, कर्मचारियों की लापरवाही कदापि माफ नहीं की जाएगी.मनपा उपायुक्त (मुख्यालय) नूतन खाड़े द्वारा जारी कड़क निर्देश से कामचोर, लापरवाह अधिकारियों, मनपाकर्मियों को जोरों का बिजली का झटका धीरे से लग गया है.

कर्मचारी बोले घर से ही कार्य किए जाने की मिली है मंजूरी 

उक्त संदर्भ में कई अधिकारियों, कर्मचारियों ने नाराजगी दिखाते हुए कहा कि कोरोना महामारी संकटकाल में शासन द्वारा अधिकारियों, कर्मचारियों को घर से ही कार्य किए जाने की मंजूरी मिली है. कई मनपा अधिकारी, कर्मचारी कोरोना पीड़ित होकर अस्पताल में  उपचार की मजबूरी झेल हैं और 4 मनपा कर्मियों की दुखद मौत हो गई है बावजूद मनपा अधिकारी, कर्मचारी जान हथेली पर लेकर अपनी ड्यूटी बखूबी अंजाम देने में जुटे हैं. मनपा प्रशासन द्वारा ऐसे विकट समय में इस तरह का आर्डर निकालना कदापि न्यायोचित नहीं है, लेकिन मानना मजबूरी है. महामारी से जान रहे चाहे जाए.