DRUCC समिति के सदस्य सुभाष सालुंके ने किया स्टेशन का दौरा

अंबरनाथ. मध्य रेलवे, मुंबई मंडल की डीआरयूसीसी समिति के सदस्य के रूप में अंबरनाथ के पूर्व नगरसेवक सुभाष सालुंके की हाल ही में नियुक्ति की गई है. नवनियुक्त सदस्य सालुंके ने मंगलवार की दोपहर अंबरनाथ स्टेशन का दौरा किया एवं अंबरनाथ रेलवे स्टेशन की विभिन्न समस्याओं के समाधान को लेकर महकमे के अधिकारियों से चर्चा की.

दौरे के बाद नवभारत से बातचीत करते हुए सुभाष सालुंके ने बताया कि अंबरनाथ रेलवे स्टेशन मध्य रेलवे का एक महत्वपूर्ण स्टेशन है और यहां 960 साल पुराना प्राचीन शिव मंदिर है.  इसके अलावा शहर में हजारों छोटी बड़ी कंपनियां जहां नौकरी करने हजारों लोग आते व जाते है वही व्यवसाय और पर्यटन के लिए बड़ी संख्या में यात्री आते है. इसे देखते हुए अंबरनाथ रेलवे स्टेशन में आवश्यक सुविधाएं मुहैया कराना जरूरी है. पर्याप्त शौचालय और स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराना आवश्यक है. सांसद श्रीकांत शिंदे के प्रयासों से एमयूटीपी 3 के तहत रेलवे स्टेशन को बनाने के लिए एक नया काम शुरू किया गया है. सुभाष सालुंके ने कहा कि होम प्लेटफॉर्म, पैदल पुल, एस्केलेटर, भवन, सौंदर्यीकरण आदि इसमें प्रस्तावित है.

साथ ही कर्जत की दिशा में पुराने पादचारी पुल को ध्वस्त कर दिया गया है और उसका काम बंद है. कार्य को जल्दी शुरू कर उसको पूरा किए जाने और स्वंयचलित सीढ़ी को पैदल यात्री पुल से जोड़ा जाना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि महिला यात्रियों की सुरक्षा के लिए अंबरनाथ स्टेशन पर महिला कांस्टेबल की तैनाती करने, बड़े स्टेशनो पर महिला कांस्टेबल की संख्या बढ़ाने जरूरत भी उन्होंने महसूस की. सालुंके ने कहा कि अगर इसमें कोई सुधार नहीं हुआ है, तो वह इसकी शिकायत डीआरएम और सांसद श्रीकांत शिंदे से करेंगे. इस अवसर पर  एमपी रेलवे पैसेंजर्स कमेटी अंबरनाथ की नीता परदेशी, सुभाष तापडी,  प्रोफेसर नाजिम शेख, राजकुमार जमखंडीकर, स्टेशन मैनेजर विजय काशीकर, आरपीएफ के अंबरनाथ इंचार्ज अरविंद कुमार, मुख्य बुकिंग अधीक्षक गायकवाड़ आदि उपस्थित थे.