Even after passing the entire Udyan Express, the woman did not even scratch

    बदलापुर. कहते है कि जिसे ‘रब रखे उसे कौन चखे’ अर्थात यदि भगवान को किसी इंसान को जिंदगी देनी ही है तो तब तक उसे कुछ हो नहीं  सकता जब तक उसकी मर्जी न हो। बदलापुर (Badlapur) में भी कुछ ऐसा ही हुआ। दोनों पटरियों के बीच लेटी एक 35 साल की महिला के ऊपर से पूरी उद्यान एक्सप्रेस (Puri Udyan Express) गुजर गई, लेकिन उसके शरीर पर एक खरोंच तक नहीं आई।

    जानकारी के अनुसार, शुक्रवार की सुबह लगभग 9 बजकर 25 मिनट की यह घटना है। मुंबई से पुणे के बीच चलने वाली उद्यान एक्सप्रेस बदलापुर स्टेशन (Badlapur Station) से कर्जत (karjat) की दिशा में अपनी पूरी रफ्तार से गुजर रही थी। तब ट्रेन के चालक ने देखा कि दोनों पटरी के बीच एक महिला लेटी है। रफ्तार तेज होने के कारण ट्रेन को रोकना चालक ने उचित नहीं समझा। ड्राइवर को लगा कि महिला कटकर मर गयी होगी। इसकी सूचना उन्होने अपने कंट्रोल को दी। 

    परिवार ने भी पुलिस को धन्यवाद दिया

    नियंत्रण कक्ष की सुचना पर स्टेशन मास्टर ने इसकी सूचना जीआरपी को दी। लोहमार्ग पुलिस  हमालों के साथ घटना स्थल पर पहुंची हमाल साथ में स्ट्रेचर भी ले गए थे। सभी को अचंभा तब लगा कि जिस महिला को कटा समझ कर उसको उठाने जा रहे है वह जिंदा और सकुशल है व उसे किसी तरह की चोट नहीं आई है। उसके बाद पुलिस उसे हमाल व स्ट्रेचर के माध्यम से स्टेशन मास्टर के केबिन में ले आई, रेलवे पुलिस ने महिला का पता लगाया और उसे उसके परिवार को सौंप दिया। उसके परिवार ने भी पुलिस को धन्यवाद दिया। उसकी मां प्रमिला शिंदे ने जीआरपी को बताया कि उनकी बेटी मतिमंद है वह आए दिन घर से कही भी चली जाती है। पुलिस को प्रमिला शिंदे ने आश्वासन दिया कि अब वह अपनी बेटी पर विशेष ध्यान देगी। 

    पुलिस ने दी ध्यान रखने की सलाह

    जीआरपी कल्याण के इंचार्ज शार्दूल वाल्मीकि ने इस घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि उस मतिमंद युवती को उनकी मां को सुपुर्द कर दिया गया है। इसके साथ ही उस लड़की का विशेष ख्याल रखने की सलाह भी उसके घर वालों को दी है।