onion

नवी मुंबई. विगत 2 दिनों से वाशी स्थित एपीएमसी की आलू-प्याज की मंडी में विदेशों से आयात की गई प्याज की आवक बढ़ गई है. जिसके चलते देशी प्याज की कीमत में गिरावट आने का सिलसिला शुरू हो गया है. विदेशी प्याज के मोर्चा संभालने की वजह से वीआईपी दर्जे की प्याज में प्रति किलो 15 रुपए की गुरावट आई है.शनिवार को थोक मंडी में वीआईपी प्याज 70 रुपए किलो बेची गई.

 आलू-प्याज की मंडी में थोक में कारोबार कर रहे मनोहर तोतलानी के अनुसार, शनिवार को मंडी में देशी और विदेशी समेत कुल 104 गाडि़यों में 15 हजार 332 बोरी प्याज की आवक हुई. जिसमें से 1 नंबर की प्याज 65 से 69 रुपए,2 नंबर की 60 से 64 रुपए,3 नंबर की 55 से 59 रुपए,4 नंबर की 50 से 54 रुपए,5 नंबर की 45 से 49 रुपए और सबसे हल्के दर्जे की प्याज को थोक में 20 से 45 रुपए किलो में बेची गई. वहीं 1 नंबर की देशी नई प्याज और विदेशों से आयात की गई प्याज को थोक में 40 से 50 रुपए किलो का दाम मिला.

आलू और लहसून की कीमत स्थित

विगत 15 दिनों से आलू-प्याज की मंडी में आलू और लहसुन की कीमतें स्थिर हैं. शनिवार को मंडी में 48 गाडी आलू की आवक हुई, जबकि 30 गाडी आलू पहले की शेष बची हुई थी. शनिवार को यूपी की आलू थोक में 25 से 31 रुपए किलो बेची गई, जबकि महाराष्ट्र की आलू को 22 से 28 रुपए किलो का दाम मिला. वहीं एमपी और गुजरात से आई आलू को भी  शनिवार को थोक में 22 से 28 रुपए किलो का दाम मिला. जबकि थोक में लहसुन अब भी 30 से 130 रुपए किलो में बिक रहा है.