धूमधाम से मनाई गई गुरुनानक जयंती

उल्हासनगर. सिख धर्म के संस्थापक और सिखों के पहले गुरु, गुरु नानक देव जी महाराज की जन्मतिथि के उपलक्ष्य में संपूर्ण दुनिया में मनाया जाने वाला प्रकाश पर्व उल्हासनगर में भी आस्था, श्रद्धा व उत्साह के साथ मनाया गया. इस वर्ष गुरुनानक जी का 551वां प्रकाश पर्व है.

शहर में हर साल इस पर्व पर भव्य प्रभात फेरियां निकाली जाती थी, लेकिन कोरोना महामारी के कारण इस साल उत्सव की भव्यता सार्वजनिक तौर पर थोड़ी कम ही देखने मिली. गुरुद्वारों व आसपास गुरुनानक जयंती के मौके पर गुरु नानक जी की दी गई शिक्षाओं को याद किया गया.  इस दौरान कई गुरुद्वारों में पर अखंड पाठ साहिब भी हुए. इसमें गुरु ग्रंथ साहिब के प्रमुख अध्यायों का पाठ किया जाता है. इसके अलावा गुरु नानक जयंती से एक दिन पहले सिख समुदाय के लोग नगर कीर्तन भी करते हैं.

उल्हासनगर में भी गुरुनानक देव जी के प्रकाशोत्सव पर आयोजित भव्यतम नगरकीर्तन प्रभात फेरी में भक्तों ने हर साल की तरह इस बार भी शामिल होकर गुरू घर की खुशियां प्राप्त की.