नवी मुंबई में जोरदार बारिश, कई इलाकों में जलजमाव

नवी मुंबई. मंगलवार की रात से नवी मुंबई के तहत आने वाले क्षेत्रों में जोरदार बारिश की शुरुआत हुई थी, जो बुधवार की शाम तक जारी रही. इस दौरान नवी मुंबई मनपा के क्षेत्र में आने वाले निचले इलाकों में भारी जलजमाव हुआ. वहीं पनवेल व उरण के कई इलाकों में पानी भरने से सड़कें तालाब सी नजर आ रही थी.

नवी मुंबई महानगरपालिका के बेलापुर व नेरुल विभाग में सबसे अधिक बारिश हुई. मंगलवार की शाम से बुधवार की शाम तक बेलापुर विभाग में 350 मिमी बारिश हुई. इस बारिश के दौरान इस विभाग के कोकन व सिडको भवन के परिसर में लगभग 3 फुट पानी भर गया था. वहीं सीबीडी का बस डिपो तालाब बन गया था.इस जोरदार बारिश के दौरान सीबीडी सेक्टर- 4, 5, 6 व बेलापुर गांव के निचले इलाकों में पानी भर गया था. वहीं दूसरी ओर इस बारिश के दौरान नेरुल में 379.10 मिमी बारिश हुई. जिसकी वजह से यहां के निचले इलाके डूब गए थे.

गटर के ढक्कन को पड़ा हटाना 

बेलापुर विभाग के निचले इलाकों में पानी भरने की वजह से यह पानी लोगों के घरों में घुसने लगा था. जिसे रोकने के लिए मनपा के आपदा प्रबंधन व घनकचरा विभाग के कर्मचारियों को गटर के मेनहोल का ढक्कन हटाना पड़ा. इस दौरान सुरक्षा के लिए मनपा के द्वारा यहां पर वैरिगेटिंग करनी पड़ी. इस बारिश से जिन लोगों का नुकसान हुआ. उनके घरों का पंचनामा राजस्व विभाग के द्वारा कराकर मनपा ने उन्हें मदद देने का काम शुरू कराया है.

एपीएमसी में कारोबार हुआ प्रभावित

 मनपा के क्षेत्र में 24 घंटों के दौरान 322.52 मिमी बारिश रिकार्ड की गई. इस बारिश के दौरान वाशी विभाग में 283.50 मिमी बारिश हुई. जिसकी वजह से कारोबार पर बुरा असर हुआ. जोरदार बारिश की वजह से एपीएमसी की मंडियों में ग्राहकों की कमी नजर आई. जिसके चलते यहां पर माल की बिक्री कम हुई. जोरदार बारिश होने के कारण आलू-प्याज की मंडी में ग्राहकों का कम आना हुआ. जिसके चलते बुधवार को प्याज की कीमत में 5 से 6 रुपए प्रति किलो की गिरावट आई.

उरण में बह गए घरों के सामान  

मंगलवार की शाम से उरण के क्षेत्र में जोरदार बारिश हुई, जो बुधवार की शाम तक जारी रही. इस दौरान यहां के निचले इलाकों में पानी भरने से लोगों के घरों में पानी घुस गया था. जिसके चलते घरों का सामान बह कर सड़क पर आ गया था. वहीं इस जोरदार बारिश के दौरान पनवेल के क्षेत्र में भी कई जगह जलजमाव हुआ. जिसके चलते लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा.