hospital
Representational Pic

    भिवंडी. महानगरपालिका कमिश्नर डॉ. पंकज आसिया (Municipal Commissioner Dr. Pankaj Asiya) द्वारा शहर स्थित सिराज हॉस्पिटल (Siraj Hospital) को कोरोना मरीजों (Corona Patients) से अधिक बिल वसूली का दोषी करार देते हुए 2 माह के लिए महानगरपालिका द्वारा प्रदत्त मेडिकल लाइसेंस को सस्पेंड (Suspend) कर दिया गया है। महानगरपालिका प्रशासन के आदेशानुसार अस्पताल में 2 माह तक उपचार सुविधा पूर्णता बंद होगी। मनपा कमिश्नर के आदेश से शहर स्थित तमाम अस्पतालों में हड़कंप मच गया है। मिली जानकारी के अनुसार, बंजार पट्टी नाका स्थित सिराज अस्पताल को महानगरपालिका प्रशासन द्वारा कोविड-19 के उपचार के लिए मंजूरी प्रदान की गई है। 

    महानगरपालिका प्रशासन का आरोप है कि सिराज अस्पताल में एडमिट कोरोना मरीजों से उपचार के लिए शासन के निर्देशों से अधिक बिल वसूली की गई जो नितांत गलत है। कोरोना काल के दौरान करीब 14 लाख रुपए मरीजों से ज्यादा बिल वसूली का खुलासा ऑडिट रिपोर्ट में हुआ है। महानगरपालिका द्वारा कोरोना मरीजों से अधिक पैसा वसूली को वापस किए जाने के आदेश का अनुपालन भी अस्पताल प्रबंधन ने नहीं किया। 

    तमाम गतिविधि को बंद किए जाने का आदेश 

    महानगरपालिका प्रशासन के बार-बार नोटिस के बावजूद सिराज अस्पताल प्रबंधन द्वारा महानगरपालिका प्रशासन को कोई जवाब नहीं दिया गया है। महानगरपालिका स्वास्थ्य विभाग की नोटिस का जवाब नहीं देने पर मनपा कमिश्नर डॉ. पंकज आसिया ने तत्काल प्रभाव से सिराज अस्पताल के लाइसेंस को 2 माह के लिए सस्पेंड कर अस्पताल की तमाम गतिविधि को बंद किए जाने का आदेश दिया है।