Huts built on toilet plot, NMMC Demolishe

    नवी मुंबई. नवी मुंबई महानगरपालिका के ऐरोली विभाग के तहत आने वाले यादव नगर के जय भवानी नगर (Jai Bhavani Nagar) में नवी मुंबई महानगरपालिका (Navi Mumbai Municipal Corporation) के द्वारा यहां पर रहने वाले नागरिकों के लिए सार्वजनिक शौचालय बनाने के लिए एक भूखंड को आरक्षित रखा गया था। जिस पर अवैध तौर से कब्जा करके कुछ लोगों ने 6 झोपड़े बना लिए थे। जिसकी जानकारी मिलने पर मनपा के अवैध निर्माण निरोधक विभाग ने इन सभी झोपड़ों को जमींदोज (Demolishe) करने का काम किया।

    गौरतलब है कि नवी मुंबई महानगरपालिका के ऐरोली विभाग के तहत आने वाले प्रभाग क्रमांक-6 में स्थित यादवनगर के जयभवानी नगर में मनपा के द्वारा भूखंड क्रमांक- टी-22 व टी-23 को मनपा ने एमआईडीसी से सार्वजनिक शौचालय के निर्माण के लिए मांगा था। जिसे एमआईडीसी ने मान्य करते हुए उक्त भूखंड का सीमा रेखा तय कर के 16 सितंबर 2019 को मनपा को हस्तांतरित किया था। एमआईडीसी से मिले इस 187 वर्ग मीटर के भूखंड पर को कुछ लोगों ने अवैध तौर से कब्जा करके झोपड़े बना लिए थे।

    जेसीबी की सहायता से किया जमींदोज

    सार्वजनिक शौचालय के भूखंड पर बने अवैध झोपड़ों को तोड़ने का काम नवी मुंबई महानगरपालिका के कमिश्नर अभिजीत बांगर के आदेश पर मनपा के ऐरोली विभाग की सहायक आयुक्त डॉ. मिताली संचेती के नेतृत्व में किया गया। इस मौके पर मनपा के अवैध निर्माण निरोधक के अभियंता राकेश निमेष, रबाले एमआईडीसी पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक गिते मौजूद थे। इन अवैध झोपड़ों को तोड़ने के लिए मनपा ने जेसीबी का इस्तेमाल किया।