ITI कोविड सेंटर में अनियमितताएं, मरीजों ने किया हंगामा

उल्हासनगर. उल्हासनगर मनपा द्वारा कैम्प-3 मयूर होटल के सामने स्थित शासकीय आईटीआई में बनाए गए कोविड सेंटर में भर्ती कोरोना मरीजों ने जमकर हंगामा किया. मरीजों का आरोप है कि कोविड सेंटर में इलाज के लिए भर्ती मरीजों के प्रति कोविड सेंटर के डॉक्टर व उनका स्टॉफ पूरी तरह लापरवाही बरत रहा है. मरीजों के अनुसार पिछले 6 दिन में पेशेंट की जांच करने के लिए एक भी डॉक्टर यहां नहीं आया था.

वहीं रविवार कि रात को मरीजों द्वारा किए गए हंगामे के बाद सोमवार को मरीजों को चेक करने के लिए डॉक्टर इस कोविड सेंटर पहुंचे. नाम न छापने की शर्त पर महिला मरीज का कहना है कि रविवार की रात 10 बजे के समकक्ष अचानक उन्हें सूचित किया गया कि सभी मरीजों को विट्ठलवाडी स्थित वेदांत में शिफ्ट किया जा रहा है. इसलिए आप लोग बाहर आ जाएं. इस सूचना से मरीजों की नाराजगी और बढ़ गई.

डॉ. मोहनालकर फोन तक नहीं उठाते 

मरीजों का कहना है कि पहले से ही यहां व्यवस्था ठीक नहीं है. 6-7 दिन बीतने के बाद भी उनकी जांच तक करने कोई नहीं आया. इसका मतलब है कि वे ठीक हैं.  इसलिए वेदांत में स्थानांतरित करने के बजाए उन्हें उनके घर जाने दिया जाए. वह अपने घर में ही क्वारन्टीन रह लेंगे व उनके पास पर्याप्त जगह भी है.

महिला मरीजों के विरोध के आगे मनपा प्रशासन की एक नहीं चली और उन्होंने आईटीआई कोविड सेंटर खाली भी नहीं किया. इस पूरी घटना का संबंधित वीडियो महिला मरीजों ने बनाया व वायरल किया है. जब इस संदर्भ में अधिक पूछताछ के लिए मनपा के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मोहनालकर से बात करनी चाही, तो 4-5 बार मोबाइल की घंटी बजने के बाद भी उन्होंने फोन अटेंड नहीं किया.