KDMC Ghantagadi employees on strike due to non-payment of salary

    कल्याण. केडीएमसी (KDMC) में घंटागाड़ी में कार्यरत ठेका कर्मियों ने तीन माह से वेतन (Salary) नहीं मिलने पर बुधवार को अचानक हड़ताल (Strike) शुरू कर दी।  कल्याण पश्चिम के इंदिरा नगर चौक पर मजदूरों ने इकट्ठा होकर कूड़ा उठाने से मना कर दिया। केडीएमसी में लगभग 250 कर्मचारी बेल ट्रेनों में काम कर रहे हैं, जिनमें से 50 श्रमिकों ने हड़ताल शुरू कर दी है। कार्यकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि अगर इस संबंध में कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया गया तो कल से आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा।

    कल्याण पश्चिम में ब प्रभाग क्षेत्र के 3 वार्डों में एक निजी ठेकेदार द्वारा कचरा संग्रहण दिया गया है।  हालांकि, ठेका कर्मियों ने बुधवार को सुबह यह कहते हुए आंदोलन शुरू कर दिया कि उन्हें संबंधित कंपनी से आंशिक वेतन मिल रहा है। जिसमें समय पर वेतन का भुगतान नहीं होना भी शामिल है। कल्याण  पश्चिम के इन 3 वार्डों से बिना कूड़ा उठाए कूड़ा उठाकर उसके बगल में खड़ा कर दिया गया।  

    सड़क पर कूड़ा पड़ा हुआ था

    नतीजतन तीनों वार्डों में सुबह से ही सड़क पर कूड़ा पड़ा हुआ था। कर्मचारियों के बराबर काम करने के बाद भी हमें ठेकेदार द्वारा समय पर भुगतान नहीं किया जाता है। उन्होंने कहा कि जब तक हमारे मुद्दों का समाधान नहीं हो जाता तब तक आंदोलन जारी रहेगा। इस बीच, जब इस बारे में पूछा गया तो  संबधित विभाग के उपायुक्त रामदास कोकरे ने कहा कि ठेकेदार और कर्मचारियों के बीच हुए विवाद को लेकर आंदोलन किया गया हैं। 

    KDMC ने ठेकेदार पर जुर्माना लगाया

    कार्य में अनियमितता पाए जाने पर मनपा ने ठेकेदार पर जुर्माना लगाया। जिससे ठेकेदार को अपने कर्मचारियों के वेतन में कटौती करनी पड़ी, जो कि बहुत ही गलत काम है। उपायुक्त कोकरे ने ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी है। अगर ऐसा पाया जाता है कि ऐसी घटनाएं फिर से हुई तो कार्रवाई की जाएगी।