KDMT के बस ड्राइवर व कंडक्टर की कोरोना से हुई मौत

कर्मचारियों में मची खलबली

कल्याण. कल्याण डोंबिवली नपा की परिवहन सेवा में कार्यरत बस के एक ड्राइवर और एक कंडक्टर की कोरोना की चपेट  इन आने से मौत होने से परिवहन सेवा से जुड़े कर्मचारियों में खलबली मच गई है. आशंका है कि उक्त दोनों के संपर्क में आने वाले और कई कर्मचारी कोरोना संक्रमित हो सकते हैं. लॉक डाउन के दौरान पिछले 3 महीनों से परिवहन सेवा में अत्यावश्यक ड्यूटी कर रहे परिवहन उपक्रम के कंडक्टर हुसेन बादशाह और बस चालक राजेन्द्र तलेले की कोरोना से हुई मौत के बाद केडीएमटी के ड्राइवर और कंडक्टरों में खलबली मची हुई है.

कल्याण डोंबिवली मनपा प्रशासन   विभागीय सूत्रों के अनुसार अभी 8 से 10 कर्मचारी शहर के विभिन्न अस्पताल और कोरोंटाइन सेंटर में अपना इलाज करा रहे हैं. अंबरनाथ में रहने वाले बस कंडक्टर हुसेन बादशाह पिछले 19 साल से केडीएमसी के परिवहन उपक्रम में काम कर रहे थे. रविवार को कोरोना से उनकी मृत्यु हो गई. इसके पहले गुरुवार को बस चालक राजेन्द्र तलेले का डोंबिवली के नियॉन हास्पिटल में मौत हो गई थी. तलेले कोरोना पॉजिटिव थे और मरने के बाद उनकी रिपोर्ट आई है. दो कर्मचारियों की मौत के बाद कडोमपा परिवहन विभाग  में भय का माहौल बना हुआ है.

इंश्यूरेंस को लेकर कर्मचारियों में नाराजगी 

अत्यावश्यक सेवा में काम कर रहे परिवहन कर्मचारियों का कहना है कि कोरोना कार्यकाल में सरकार ने जो 50 लाख की योजना बनाई है उसके लिए भी विभाग द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है ताकि मृतक कर्मचारियों को उसका लाभ मिले. इतना ही नहीं कर्मचारियों का यह भी कहना है कि बस ड्राइवर या कंडक्टरों की सुरक्षा के लिए कोई उपाय योजना नहीं की गई है.