सर्वे क्रमांक 38 की जमीन वन विभाग से मुक्त की जाए

  • MNS ने की वन विभाग से मांग

अंबरनाथ. अंबरनाथ  शहर के पूर्व विभाग स्थित डिफेंस कॉलोनी, मोहन पुरम, स्वामी देवप्रकाश संकुल की कब्जे वाली भूमि पर सर्वे नंबर 38 का कुछ हिस्सा वन विभाग के रिकॉर्ड में है. यहां बनी पचीसों बिल्डिंग में हजारों लोग वर्षों से रह रहे हैं, इसको वन विभाग से हटाने की मांग मनसे के शहर अध्यक्ष कुणाल भोईर ने की है. 

इस संदर्भ में मनसे शहर अध्यक्ष कुणाल भोईर ने बताया कि मोहन पुरम, स्वामी देवप्रकाश संकुल, डिफेंस कॉलोनी की जमीन वन विभाग के रिकॉर्ड में है. स्थानीय निवासी कई वर्षों से कानूनी लड़ाई लड़ रहे थे.  इस संबंध में उच्च न्यायालय ने 27 सितंबर 2018 को अपने फैसले में आदेश दिया है कि सात बारह उतारे से वन विभाग का नाम हटाया जाए, क्योंकि वह परिसर विगत 3 दशक से रिहायशी क्षेत्र बन चुका है वह जमीन बीच शहर में है. 

मनसे नेता भोईर के अनुसार अदालत के आदेश की कॉपी एवं एक निवेदन पत्र विगत 6 फरवरी को स्थानीय एसडीओ जगतसिंग गिरासे को दिया था. लेकिन अभी तक नाम चेंज न होने के कारण आखिरकार शुक्रवार को एक बार क्षेत्रीय उप विभागीय अधिकारी जगतसिंग गिरासे से मुलाकात की व उक्त मांग वाला निवेदन दिया. इस अवसर पर मोहन पुरम से वरिष्ठ अधिवक्ता माता साहब, डिफेंस कॉलोनी के कृष्णन कांबले, अरविंद पवार, सिद्दीकी, दासगुप्ता आदि उपस्थित थे.