साढ़े 5 साल बाद मिले खोए दस्तावेज

ठाणे. कोशिश करनेवालों की कभी हार नहीं होती इसका जीता जागता उदाहरण ठाणे रेलवे प्रशासन द्वारा पेश किया गया है. लगभग साढ़े 5 वर्ष पहले खोई प्लास्टिक की थैली और उसमे मौजूद दस्तावेज ठाणे रेलवे प्रशासन ने केरल की रहनेवाली महिला को वापस लौटाया. महिला मुंबई की रहनेवाली है, लेकिन शादी के बाद वह केरल में रहने लगी थी.

गौरतलब है कि ठाणे रेलवे स्टेशन उप प्रबंधक लक्ष्मण दास वर्ष 2015 ऑन ड्यूटी थे. उसी समय एक अज्ञात यात्री उनके पास आया और उन्होंने एक प्लास्टिक की थैली में मौजूद महत्त्वपूर्ण दस्तावेज दास को देकर कहा कि किसी यात्री की यह थैली ट्रेन में ही छूट गई थी. थैली में मौजूद कागजपत्र की जांच करने के बाद दास को कुछ मोबाइल नंबर और कागजपत्र किसी रेजिमोल कुंजप्पन महिला के हैं इसकी जानकारी मिली थी. दास ने उक्त नंबरों पर संपर्क करना चाहा, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया. उसी वर्ष लगभग 7 महीने बाद दास ने महिला से पुनः संपर्क किया तो महिला से संपर्क हुआ और महिला ने उस वक्त कहा था कि मैं केरल में रहती हूं, जब मैं वापस मुंबई आऊंगी तब अपने दस्तावेज पुनः ले लूगी. पिछले साढ़े 5 वर्षों से महिला मुंबई नहीं आ पायी. हाल ही में महिला को मुंबई आना पड़ा. इस दौरान महिला ने दास से संपर्क कर अपना दस्तावेज वापस ले लिया. पुराने दस्तावेज देखकर महिला बहुत ही खुश हो गई.

केजी से लेकर ग्रैजुएशन तक के दस्तावेज

तत्कालीन उप प्रबंधक दास ने बताया कि थैली में महिला के केजी कक्षा से लेकर ग्रैजुएशन तक के दस्तावेज मौजूद थे. महिला से संपर्क होने के बाद दस्तावेज सुरक्षित जगह पर रख दिया गया था हाल ही में महिला को उक्त दस्तावेज सौंप दिया गया है.