मंदिरों को खोले जाने की मांग को लेकर महाआरती

अंबरनाथ. विश्व हिंदू परिषद की अंबरनाथ जिला शाखा द्वारा विजया दशमी की पूर्व संध्या पर स्थानीय प्राचीन शिवमंदिर के मुख्य द्वार के सामने राज्य के सभी मंदिरों को खोले जाने की  मांग को लेकर  महाआरती की गई. 

परिषद के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को स्थानीय शिवमंदिर पर आयोजित महाआरती के दौरान घोषणा दी कि ‘विश्व हिंदू परिषद की एक ही पुकार, तुरंत खोले मंदिर के द्वार’  परिषद के बैनर तले ‘ढोल बजाव, सरकार जगाव’ आंदोलन भी  किया गया. बजरंग दल कोंकण प्रांत के संयोजक संदीप रमाकांत भगत  मुख्य अतिथी के रूप में उपस्थित थे. भगत ने कहा की यदि राज्य सरकार ने 1 नवंबर तक मंदिर के खोलने की अनुमति नहीं दी तो आगामी महीने की 1 तारीख से विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल राज्य स्तर पर ताला तोडो आंदोलन शुरू करेगी. बजरंग दल अंबरनाथ के जिला संयोजक संतोष जगन्नाथ खारीक, बजरंगदल अंबरनाथ के जिला सह संयोजक. आशीष यादव, राजेश पांडुरंग गायकर, जिला धर्म प्रसार प्रमुख  सिंधू शर्मा, अमित भोईर, उमेश खर्चे, सुनील कनोजिया, उमेश झाटे, आलोक पांडेय, नवनाथ पाटिल , चंद्रकांत वारिंगे, सुनील चोलेकर, नरेश भोईर, प्रमोद गुप्ता, नीलेश यादव,वीरेंद्र राजभर,राम प्रवेश यादव, मनोज गौड़, रमेश वर्मा,  प्रमोद फुलवरे, उमेश सुवर्ण, कृष्णा नायर, ललित पोहाणे, संतोष हारे सहित बड़ी संख्या में परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ता उपस्थित थे.