2021 में साकार होगा महाराष्ट्र भवन !

नवी मुंबई. संस्कृति और उत्थान के केन्द्र के तौर पर प्रस्तावित महाराष्ट्र भवन के निर्माण को लेकर एक बार फिर प्रयास तेज हो गए हैं. अगर सब कुछ ठीक रहा तो नवी मुंबई महानगर पालिका चुनाव से पहले महाराष्ट्र भवन का शिलान्यास हो सकेगा और वर्ष 2022-23 तक निर्माण पूरा हो सकेगा.

 दिवाली पर्व से पहले इसे लेकर राजनीतिक दलों और विधायकों की पहल इसका संकेत देती हैं. जाहिर है  वर्ष 2021 में नवी मुंबई मनपा चुनाव और उसके बाद 2022 में मध्यावधि चुनाव की संभावनाएं जोर पकड़ रही हैं ऐसे में माना जा रहा है कि नवी मुंबई में महाराष्ट्र प्रदेश भवन को लेकर गतिविधियां तेज होंगी. यह चुनावी मुद्दा भी रहेगा जो वोटरों को प्रभावित करने में मददगार बनेगा.

मंदा म्हात्रे ने तेज की मांग

नवी मुंबई में अन्य प्रांतों के प्रशासकीय भवनों तरह राज्य का महाराष्ट्र भवन भी शीघ्र निर्मित हो इसके लिए सिडको को पहल करनी चाहिए. इस आशय की मांग भाजपा विधायक मंदा म्हात्रे ने की है. मंदा म्हात्रे ने कहा कि मुंबई के नजदीक महाराष्ट्र भवन का निर्माण हो इसके लिए वर्ष 1998 में ही 8000 वर्गमीटर का भूखंड आरक्षित किया गया, लेकिन आज तक उसकी नींव तक नहीं डाली गयी. वर्ष 2020 के बजट में भी भवन का उल्लेख है. गौरतलब है कि मुंबई में महाराष्ट्र के सूदूर गांवों और इलाकों से काम काज, शिक्षा और अन्य कार्यों के लिए नागरिक आते रहते हैं. प्रांतीय भवन नहीं रहने से उन्हें प्राइवेट होटलों, लॉजों और अन्य ठिकानों पर आश्रय लेना पड़ता है.

नवी मुंबई में 12 प्रांतों के भवन

गौरतलब है कि लगातार राजनीतिक दल इस बात पर सवाल उठा रहे हैं कि आखिर महाराष्ट्र सरकार अपने प्रशासकीय भवन के निर्माण को लेकर इतनी उदासीन क्यों है. नवी मुंबई में असम, केरल, मध्य प्रदेश, यूपी,कर्नाटक, उत्तराखंड और राजस्थान समेत 12 प्रांतों ने अपने भवन बना लिए हैं, जबकि महाराष्ट्र सरकार 22 सालों बाद भी अपना भवन निर्मित करने को लेकर उदासीन है.