Make your mask your protection, everyone should follow the rules

    ठाणे: अपना मास्क ही अपनी सुरक्षा हैं इसलिए लोग मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। उक्त आवाहन ठाणे जिले (Thane District) के पालकमंत्री (Guardian Minister Eknath Shinde) एकनाथ शिंदे ने ठाणे जिला वासियों से किया हैं। साथ ही उन्होंने नियमों (Rules) का पालन न करने वाले मास्क (Mask) न लगाने वालों पर कठोर दंडात्मक कारवाई करने का निर्देश जिला प्रशासन को दिया हैं। 

    भिवंडी तहसील के सवाद में स्थित ठाणे ग्रामीण कोविड अस्पताल (Thane Rural Covid Hospital) का लोकार्पण नगरविकास मंत्री तथा पालकमंत्री एकनाथ शिंदे द्वारा किया गया। इस दौरान लोगों का मार्गदर्शन करते हुए पालकमंत्री ने कहा कि कोरोना का बढ़ता प्रादुर्भाव प्रशासन के लिए चिंता का विषय है, लेकिन जहां इस वैश्विक महामारी से निपटने के लिए तैयार है और सुविधाओं की व्यवस्था कर रहीं हैं। 

    राज्य सरकार स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूत कर रही है

    राज्य सरकार स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूत कर रही है। वहीं इससे निपटने की जिम्मेदारी सिर्फ प्रशासन की ही नहीं, बल्कि सभी की हैं। इसलिए प्रत्येक नागरिक को प्रशासन के साथ कदम-से-कदम मिलाकर चलने की जरूरत हैं। ग्रामीण क्षेत्र में भी लोगों को कोरोना के इस संकटकाल में मरीजों को दौड़भाग न करना हो इसलिए इस कोविड अस्पताल का निर्माण कम समय किया गया हैं और उन्हें विश्वास है कि लोगों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध होगी। ऐसे में ग्रामीण इलाके में जनता के लिए बनाए गए इस अत्याधुनिक और सुसज्जित ग्रामीण कोविड अस्पताल को बनाने के लिए जिला प्रशासन बधाई के पात्र है। पालकमंत्री ने कहा कि ठाणे  में ग्लोबल अस्पताल भी 22 दिन में विभिन्न संस्थाओं के सहयोग से तैयार किया गया था और आज वहां ठाणे मनपा के माध्यम से लोगों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध हो रहा हैं। 

    कोविड खत्म होने के बाद नियमित अस्पताल में होगा रूपांतरण

    पालकमंत्री शिंदे ने कहा कि राज्य सरकार ने अपने सालाना बजट में इस अस्पताल के लिए 50 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। ऐसे में कोरोना खत्म होने के बाद इस कोविड अस्पताल को स्थाईतौर पर ग्रामीण अस्पताल में रूपांतरण कर दिया जाएगा।  

    768 बिस्तरों का है यह अस्पताल : नार्वेकर

    इस दौरान जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर ने अस्पताल के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि ठाणे जिले में कोरोना का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा हैं। इसलिए ठाणे जिले के ग्रामीण क्षेत्र में बढ़ रहे प्रादुर्भाव को देखते हुए कोविड मरीजों के सेवा के लिए ठाणे ग्रामीण कोविड अस्पताल का निर्माण किया गया और भिवंडी तहसील से 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित मुंबई-नाशिक महामार्ग से 5 किलोमीटर के अंतर पर एक लाख, 74 हजार 900 वर्गफुट का है। इस जगह को एक निजी गोदाम और बखार की जगह अधिग्रहीत किया गया और अब यह 738 बेड ऑक्सीजन का जहां पर 80 बेड अति दक्षता विभाग का है। इस कुल 818 बिस्तरों का यह अस्पताल हैं।  

    प्रयोगशाला का भी हुआ उद्धघाटन

    इस मौके पर पालकमंत्री एकनाथ शिंदे के द्वारा पडघा प्राथमिक आरोग्य केंद्र में बनाए कोविड-19 आरटीपीसीआर प्रयोगशाला का भी लोकार्पण हुआ.

    इनकी रही उपस्थित 

    इस कार्यक्रम के दौरान पावरलूम टेक्सटाइल महामंडल के अध्यक्ष प्रकाश पाटिल, ठाणे जिला परिषद अध्यक्ष सुषमा लोणे, भिवंडी के सांसद कपिल पाटिल,  विधान परिषद सदस्य रविंद्र फाटक,  विधानसभा सदस्य  विश्वनाथ भोईर, शांताराम मोरे,  जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी भाऊसाहेब दांगडे, अपर जिलाधिकारी वैदेही रानडे, जिला शल्य चिकित्सक कैलास पवार आदि उपस्थित थे।