Bhiwandi Manpa

    भिवंडी. राजनैतिक कार्यों को लेकर हमेशा विवादों में रहने वाली भिवंडी महानगरपालिका (Bhiwandi Municipal Corporation) फिर नए विवादों में घिर गई है। मनपा महापौर प्रतिभा पाटिल (Mayor Pratibha Patil) ने ऑनलाइन (Online) महासभा के दौरान भाजपा नगरसेवक (BJP Corporator), मनपा सभागृह नेता श्याम मनसुख अग्रवाल को तत्काल पद से हटाने की घोषणा करते हुए भाजपा पार्टी से ही नगरसेविका कामिनी रवि पाटिल को सभागृह नेता बनाए जाने की घोषणा की जिसके उपरांत भाजपा पार्टी में घमासान मच गया है।

    गौरतलब हो कि भिवंडी मनपा महापौर प्रतिभा पाटिल द्वारा 3 माह पूर्व ही मनपा सदन में 20 भाजपा नगरसेवकों वाली भाजपा पार्टी से नगरसेवक श्याम अग्रवाल को जिलाध्यक्ष संतोष शेट्टी एवं गट नेता हनुमान चौधरी के अनुमोदन पर मनपा सभागृह नेता मनोनीत किया गया था। मनपा महापौर पाटिल द्वारा अभद्र टिप्पणी का हवाला देकर सभागृह नेता श्याम अग्रवाल को मनमानी तरीके से पद से हटाए जाने से भाजपा में कोहराम मच गया है। भाजपा शीर्ष नेताओं नें मनपा महापौर के मनमानीपूर्ण रवैये पर सख्त एतराज जताते हुए महापौर निर्णय के खिलाफ कोर्ट का दरवाजा खटखटाये जाने की चेतावनी दी है। 

    क्या है पूरा मामला ?

    सूत्रों की माने तो गत् 26 जनवरी को प्रति वर्ष की भांति स्व. आनंद दिघे चौक पर भाजपा विधायक महेश चौगुले द्वारा संस्थापित मीत फाउंडेशन द्वारा आयोजित भारत माता पूजन कार्यक्रम मौके पर कुछ लोगों के सामने सभागृह नेता श्याम अग्रवाल द्वारा महापौर प्रतिभा पाटिल के खिलाफ अभद्र टिप्पणी  किया जाना बताया जा रहा है। अभद्र टिप्पणी की सूचना शुभचिंतक से मिलने पर महापौर ने आक्रोश व्यक्त करते हुए भाजपा जिलाध्यक्ष संतोष शेट्टी एवं गटनेता हनुमान चौधरी को शिकायती पत्र लिखा और सभागृह नेता श्याम अग्रवाल के अमर्यादित व्यवहार का हवाला देते हुए पद से हटाने को कहा था। भाजपा शीर्ष नेताओं द्वारा जबाब दिए जाने के उपरांत भी मामला शांत नहीं हुआ तदुपरांत आक्रोशित महापौर ने स्वतः संज्ञान लेते हुए ऑनलाइन महासभा के आखिरी क्षणों में सभागृह नेता अग्रवाल को पद से हटाए जाने एवं भाजपा नगरसेवक कामिनी रवि पाटिल को सभागृह नेता बनाए जाने की घोषणा कर सबको विस्मृत कर दिया। आश्चर्यजनक तथ्य है कि महापौर द्वारा सभागृह नेता पद पर नामित की गई भाजपा नगरसेविका कामिनी रवि पाटिल ने महापौर के निर्णय को तत्काल नकारते हुए श्याम अग्रवाल को ही मनपा सभागृह नेता मानते हुए लिखित समर्थन पत्र भाजपा जिलाध्यक्ष संतोष शेट्टी व गट नेता हनुमान चौधरी को दिया है।

    सम्माननीय महापौर हमारी बहन समान, आरोप मनगढ़ंत

    महापौर को अभद्र टिप्पणी आरोपों पर घिरे श्याम अग्रवाल का कहना है कि आरोप पूर्णतया बेबुनियाद हैं। सम्माननीय महापौर हमारी बहन समान हैं। नगरसेवक अग्रवाल का कहना है कि महापौर मानसरोवर में निर्माणाधीन ड्रेनेज एसटीपी प्लांट के विरोध का खुन्नस निकाल रही हैं जिसका मैं काफी समय से जनहित में विरोध कर रहा हूं।

    हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाए जाने की तैयारी 

    उक्त संदर्भ में भाजपा जिलाध्यक्ष संतोष एम शेट्टी का कहना है कि भिवंडी में कोणार्क विकास आघाडी का महापौर बनाए जाने में भाजपा का ही बड़ा सहयोग है। महापौर को मनपा अधिनियम के तहत भाजपा पार्टी के सभागृह नेता श्याम अग्रवाल को पद से हटाए जाने का कोई अधिकार ही नहीं है। भाजपा की तरफ से सभागृह नेता श्याम अग्रवाल ही रहेंगे। भाजपा गट नेता हनुमान चौधरी, वरिष्ठ भाजपा नगरसेवक नीलेश चौधरी, भाजपा शहर संगठन महासचिव एड. हर्षल पाटिल का कहना है कि महापौर को मनपा नियम विरोधी कार्य नहीं करना चाहिए अन्यथा महापौर पद की गरिमा कम होती है।महापौर को मनपा भाजपा सभागृह नेता को हटाने का कतई अधिकार नहीं है। भाजपा ने नगरसेवक श्याम अग्रवाल को ही मनपा सभागृह नेता बनाया है वे अपनी समयावधि पूर्ण करेंगे। सूत्रों की माने तो महापौर द्वारा अपदस्थ किए गए सभागृह नेता श्याम अग्रवाल पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की सलाह व मार्गदर्शन में महापौर निर्णय के खिलाफ हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाए जाने की तैयारी में हैं।