कोरोना बाधित मां-बाप की नवजात बच्ची को मनसे ने दिया सहारा

ठाणे. इलाज के लिए कई अस्पतालों के चक्कर लगाने वाली 9 माह की गर्भवती महिला को जहां मनपा प्रशासन ने निजी अस्पताल में भर्ती कराया था और महिला ने एक खूबसूरत बच्ची को जन्म दिया था. लेकिन इस नवजात बच्ची के माता-पिता दोनों क्वारन्टीन किये जाने के कारण बच्ची को रखने में दिक्कत आ रही थी. आखिरकार नवजात बच्ची को मनसे ने सहारा दिया है. 

ज्ञात हो कि गलत सरनेम के चक्कर में मनपा के कलवा अस्पताल, फिर जिला सिविल अस्पताल और मुंबई के नायर अस्पताल तक चक्कर लगाने वाली महिला को मनपा ने एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया था. जहां पर महिला को 14 जून को “कन्यारत्न” प्राप्त हुआ था. परंतु नवजात बच्ची के माता-पिता कोरोना संक्रमित हो गए थे और इस परिस्थिति में 4 दिन की बच्ची के देखभाल को लेकर समस्या खड़ी हो गई थी और कोई जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार नजर नहीं आ रहा था. आखिरकार मनसे के ठाणे शहर अध्यक्ष रविंद्र मोरे के मार्गदर्शन में मनसे की महिला उप शहर अध्यक्षा सौ. समीक्षा मार्कंडे ने उक्त नवजात कन्या के संगोपन (देखभाल) की जिम्मेदारी स्वीकार करते हुए अपने घर ले गई.