उल्हासनगर में कांग्रेस का निजीकरण के खिलाफ आंदोलन

केंद्र सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

उल्हासनगर. केंद्र सरकार द्वारा हर सरकारी क्षेत्र हर एक विभाग में निजीकरण किए जाने के लिए जा रहे निर्णय के खिलाफ शुक्रवार को स्थानीय कांग्रेस पार्टी द्वारा उल्हासनगर के नेहरू चौक में केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन किया गया.   

केंद्र की भाजपा सरकार हर सरकारी क्षेत्र में निजीकरण कर रही है, जो सरकारी नौकरिया खत्म करने और ईस देश को उद्योगपतियों के हाथो में सौंपने का षडयंत्र है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इन नीतियों के खिलाफ शुक्रवार को उल्हासनगर शहर जिला कांग्रेस कमेटी के माध्यम से जिलाध्यक्ष राधाचरण करोतिया के नेतृत्व में  स्थानीय नेहरु चौक में प्रदर्शन व आंदोलन किया गया. 

पूर्व महापौर मालती करोतिया, जिला उपाध्यक्ष तथा कामगार आघाडी अध्यक्ष महादेव शेलार, उपाध्यक्ष वजरुद्दीन खान,  महिला अध्यक्षा सुजाता शास्त्री, विद्यार्थी आघाडी अध्यक्ष रोहित आव्हाड, महासचिव तथा अनूसुचित जाती विभाग के जिला अध्यक्ष दिपक सोनोने, महिला कार्याध्यक्ष विजया शिंदे, ओबीसी सेल के अध्यक्ष सुरेश काजले, क्रिश्चन सेल के अध्यक्ष मनोज मिसाल, गणेश मोरे, अनिल सिन्हा, दिपक सोनवणे, भागवत तायडे, अनिल यादव, लवेश सिंग, नारायण गेमनानी, राहुल करोतिया,  दयानंद अडसुल, मोहम्मद शेख, संदीप बिरारे, मनु मनूजा, दीपेंद्र सिंग, मनी रणदिवे आदि ने शामिल होकर राष्ट्रपति के नाम प्रांताधिकारी को ज्ञापन सौपा.