नवी मुंबई-ठाणे के बैंक कर्मियों को मिले लोकल ट्रेनों में आवागमन की अनुमति

एसएलबीसी की सरकार से मांग

नवी मुंबई. बैंक ऑफ महाराष्ट्र के महाराष्ट्र राज्य के संयोजक एसएलबीसी ने राज्य सरकार से लोकल ट्रेनों में बैंक कर्मियों के आवागमन को मंजूरी देने की मांग की है. एसएलबीसी ने सरकार से मुंबई, नवी मुंबई एवं ठाणे में लोकल ट्रेनों द्वारा बैंक कर्मियों के आवागमन की अनुमति के लिए यह पहल की है. राज्य के मुख्य सचिव को दिए गए निवेदन में बैंक स्टॉफ को आवश्यक कर्मचारी श्रेणी में शामिल करने का भी अनुरोध किया है ताकि वे ट्रेनों द्वारा अपने कार्यस्थलों पर जा सकें और अपने ग्राहकों को बैंकिंग सेवाएं प्रदान कर सकें.

हाल ही में पश्चिम रेलवे और मध्य रेलवे ने राज्य सरकार द्वारा अभिनिर्धारित आवश्यक कर्मचारियों के लिए मेन और हार्बर लाइनों पर अपनी चयनित उपनगरीय सेवाओं को फिर से शुरू किया है. बैंक संयोजक की दलील है कि राज्य पुलिस के साथ-साथ मेडिकल प्रोफेशनल्स सहित, सभी कठिनाइयों के बावजूद, बैंकों द्वारा भी केंद्र/राज्य सरकारों द्वारा समय-समय पर जारी किए गए दिशानिर्देशों के अनुसार, लॉकडाउन की पूरी अवधि के दौरान जनता को आवश्यक सेवाएं प्रदान की गई हैं.

एसएलबीसी के अनुसार अधिकांश बैंकों के प्रधान कार्यालय मुंबई में स्थित हैं फलस्वरूप मुंबई शहर, उपनगर, नवी मुंबई और ठाणे के विशाल भौगोलिक क्षेत्र में बड़ी संख्या में बैंक कर्मचारी बसे हुए हैं और उनके लिए लोकल ट्रेनों द्वारा आवागमन करना अनिवार्य है. हालांकि राज्य सरकार ने ट्रेनों में बैंक कर्मचारियों के लिए अभी छूट नहीं दी है. ऐसे में बैंकिंग संयोजक ने यह मांग की है. फिलहाल राज्य सरकार ने मामले पर गौर करने और अनुकूल निर्णय सूचित करने का आश्वासन दिया है.