NCP ने मोर्चा निकाल कर किया किसान आंदोलन का समर्थन

  • किसान विरोधी कानून रद्द की मांग

भिवंडी. केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए किसान कानून के विरोध में समूचे देश में किसान आंदोलनरत हैं। दिल्ली में करीब 9 दिनों से शुरू किसान आंदोलन को समर्थन देने हेतु भिवंडी राकांपा जिलाध्यक्ष भगवान टावरे की अगुवाई में  राकांपा पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने मोर्चा निकालकर  भिवंडी प्रांत अधिकारी मोहन नलदकर को आन्दोलनरत किसानों के समर्थन का समर्थन पत्र सौंपा गया। उक्त मौके पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी जिला महासचिव एड. सुनील पाटिल, अनिल फड़तरे, वरिष्ठ राकांपा नेता प्रवीण पाटिल, युवा अध्यक्ष आसिफ खान, बशीर पठाण, गयासुद्दीन अन्सारी, इर्शाद अन्सारी, बंटी पवार, युसूफ सोलापुरकर, आमिर फारुकी, अभिजित सकपाल, रसूल खान, रेहान काझी सहित भारी संख्या में पदाधिकारी, कार्यकर्ता सहभागी थे।

अशोक नगर स्थित राकांपा कार्यालय से प्रांत कार्यालय तक मोर्चा निकाले गये मोर्चे में भारी संख्या में शामिल राकांपा कार्यकर्ताओं ने किसानों के समर्थन में केंद्र सरकार के विरोध में जोरदार नारेबाजी कर केंद्र सरकार का धिक्कार किया। राकांपा जिलाध्यक्ष टावरे ने कृषि कानून को किसानों के हितों का विरोधी करार देते हुए केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि केंद्र की मोदी सरकार किसानों, गरीबों, मजदूरों की दुश्मन है। केंद्र सरकार की नीतियों से किसान, मजदूर परेशान एवं बढ़ती महंगाई से जनमानस बेहाल है। राकांपा प्रतिनिधिमंडल में शामिल नेताओं द्वारा भिवंडी प्रान्त अधिकारी मोहन नलदकर को किसानों के समर्थन हेतु पत्र सौंपकर प्रधानमंत्री, कृषिमंत्री से किसान विरोधी कानून को अबिलम्ब रद्द किए जाने की मांग की गई है।