NCP unique opposition to petrol century in Thane

    ठाणे. भाजपा के शासन काल में ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर जहां त्राहि मचा हुआ हैं, वहीं कोरोना काल के दौरान यह नित नई ऊंचाई छूता जा रहा है। आलम यह है कि मई में ईंधन के दाम करीब 14 गुना बढ़ चुके हैं। अब पेट्रोल सौ पर पहुंच गया है। जिसके विरोध में एनसीपी ने पूरे ठाणे शहर में अनोखे तरीके से बोर्ड लगा दी है। इन बोर्डों पर अच्छे दिन की शुभकामनाएं देते हुए मोदी सरकार को “मैन ऑफ द मैच” का पुरस्कार दिया गया है।

    देश में पेट्रोल और डीजल के दाम चार मई के बाद आज 14वीं बार बढ़े हैं। ठाणे और मुंबई में पेट्रोल 100 के पर पहुंच गया है। डीजल के दाम में भी 29 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई है। ठाणे और मुंबई में शुक्रवार को पेट्रोल की कीमत 100.4 रुपए और 99.87 रुपए प्रति लीटर है। 

    पेट्रोल 100 नॉट आउट

    इसके विरोध में एनसीपी ने ठाणे शहर में ये बोर्ड लगाए हैं। इस बोर्ड पर एक दाढ़ी वाले बल्लेबाज की तस्वीर है, जिसे पूरे ठाणे शहर में लगाया गया है। बोर्डों पर यह उल्लेख किया गया है कि उसने एक शतक पूरा कर लिया है। मैन ऑफ द मैच, पेट्रोल 100 नॉट आउट, अच्छे दिन की शुभकामनाएं आदि संदेश को होर्डिंग पर प्रदर्शित किया गया है। इन बोर्डों को लेकर ठाणे शहर में जमकर चर्चा हो रही है।

    केंद्र सरकार का कर रहे विरोध

    इस संदर्भ में एनसीपी के ठाणे शहर अध्यक्ष व पूर्व सांसद आनंद परांजपे ने कहा कि ईंधन की कीमतें पिछले कुछ दिनों से लगातार बढ़ रही हैं। शुक्रवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने आवास मंत्री डॉ. जितेंद्र आव्हाड के मार्गदर्शन में पूरे ठाणे शहर में होर्डिंग लगाए हैं। इस पर एक बल्लेबाज की तस्वीर है। हमने उन्हें “मैन ऑफ द मैच” का पुरस्कार दिया है। इसके साथ ही यह भी संदेश दिया है कि सौ का आंकड़ा पार करने के लिए आपके अच्छे दिन की शुभकामनाएं। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने से पहले नरेंद्र मोदी और भाजपा नेता चिल्ला रहे थे कि बहुत हुई महंगाई की मार, अब की बार मोदी सरकार। अब मोदी सरकार का समय है। हालांकि अब जब भाजपा कार्यकाल में हैं, तो मुद्रास्फीति अब तक के उच्चतम स्तर पर है। यूपीए सरकार के दौरान पेट्रोल-डीजल इतना महंगा कभी नहीं हुआ। इसलिए एनसीपी ने केंद्र की मोदी सरकार के विरोध में ये बोर्ड लगा रखें हैं।