कर वसूली न होने पर नपेंगे अधिकारी

  • आयुक्त डॉ. विपिन शर्मा ने नए संपत्तियों का सर्वेक्षण करने का दिया आदेश

ठाणे. दिए गए टारगेट के अनुसार संपत्ति कर (property tax) और पानी बिल वसूली न कर पाने वाले अधिकारियों अब कठोर कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि मनपा आयुक्त डॉ. विपिन शर्मा (Municipal Commissioner Dr. Vipin Sharma) ने लक्ष्य को पूरा करने के सात-साथ नए संपत्तियों की खोज भी प्रभाग समिति स्तर पर करने का आदेश सभी प्रभाग समितियों के अधिकारियों को दिया है। मनपा आयुक्त का कहना है कि उन्होंने यह निर्णय मनपा की आय को बढ़ाने और नए संपत्तियों के सर्वेक्षण के लिए लिया है और इसमें लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है।

आपको बता दें कि कोरोना के संक्रमण काल के दौरान मार्च महीने से लेकर सितंबर महीने तक मनपा की आय में कुछ अधिक वृद्धि दर्ज नहीं की गई थी। क्योंकि कोरोना के कारण जहां लॉकडाउन था, वहीं लोगों का रोजगार और नौकरियां चले जाने और कुछ लोगों की आधी तनख्वाह आने के कारण कर दाताओं ने अपना कर भी भरना बंद कर दिया था। लेकिन सितंबर महीने के बाद आर्थिक गाड़ी पुनः पटरी पर आ रही थी, लेकिन अभी भी लक्ष्य तक मनपा पहुंच नहीं पाई है। इसलिए अब मनपा आयुक्त विपिन शर्मा संपत्ति कर और पानी बिल वसूली पर जोर देना शुरू कर दिया है।

इसी संदर्भ में आयुक्त डॉ. शर्मा ने माजीवाड़ा स्थित यूआरसीटी में विभाग प्रमुखों बैठक ली और कर संकलन को लेकर समीक्षा की। इस दौरान अतिरिक्त आयुक्त (2) संजय हेरवाडे, उपायुक्त मनीष जोशी, संदीप मालवी और जनसंपर्क अधिकारी महेश राजदेरकर, नगर अभियंता रविंद्र खडताले, अतिरिक्त नगर अभियंता अर्जुन अहिरे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।मनपा आयुक्त शर्मा ने प्रभाग समिति निहाय दिए गए दैनिक टारगेट को पूरा करने के साथ-साथ पानी बिल न भरने वालों का नल कनेक्शन को खंडित करने का भी आदेश संबधित विभाग के अधिकारियों को दिया।