एपीएमसी की सब्जी मंडी में अब सिर्फ मूल दुकान मालिकों को ही प्रवेश

  • एपीएमसी प्रशासन ने लिया अहम फैसला

नवी मुंबई. वाशी स्थित एपीएमसी की सब्जी मंडी में होने वाली भीड़ पर अंकुश लगाने के लिए अब एक पीएमसी प्रशासन नींद से जागा है. सब्जी मंडी में भीड़ को कम करने के लिए अब एपीएमसी के द्वारा यहां के मूल दुकान मालिकों को ही मंडी में प्रवेश देने का निर्णय लिया गया है.

गौरतलब है कि एपीएमसी की सब्जी मंडी में के अधिकतर दुकान मालिकों ने अपनी दुकानों को दूसरों को किराए पर दे रखा है. जिसकी वजह से यहां की दुकानों में किराएदार अपने कर्मचारियों को यहीं पर रहने और काम करने के लिए रखते हैं.इसके अलावा सब्जी मंडी में कारोबार करने के लिए वह लोग भी आते हैं. जिनके पास यहां पर कारोबार करने का लाइसेंस नहीं है. ऐसे लोग बगैर रोक-टोक के यहां पर कारोबार कर रहे थे. जिसकी वजह से सब्जी मंडी में भीड़ हो रही थी. जिसे रोकने के लिए एपीएमसी प्रशासन ने अब यहां की दुकानों के मूल मालिकों को ही मंडी में प्रवेश देने का फैसला किया है.

खुदरा में माल बेचने पर होगी कार्रवाई 

एपीएमसी के सचिव सुनील सिंगतकर ने मीडिया को बताया कि सब्जी मंडी में भीड़ को रोकने के लिए कठोर कदम उठाए जा रहे हैं. जिसके तहत इस मंडी में खुदरा माल बेचने वालों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है. जो दुकानदार इसका उल्लंघन कर रहे हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. इस मामले में अब तक 8 दुकानदारों को दोषी पाया गया है. जिनकी दुकानों को सील करने का निर्णय लिया गया है. वहीं खुदरा में माल खरीदने के लिए आने वाले ग्राहकों के खिलाफ भी दंडात्मक कार्रवाई शुरू की गई है.

निजी वाहनों को अब नो एंट्री 

सब्जी मंडी में माल लेकर आने वाले वाहनों को ही अब प्रवेश देने का फैसला एपीएमसी प्रशासन ने किया है. इस मंडी में आने वाली निजी वाहनों को अब मंदी में प्रवेश नहीं दिया जाएगा. इसके साथ ही यहां पर हर दिन विभिन्न चरणों में सिर्फ 100 रिक्शा को मंडी में प्रवेश करने दिया जाएगा. दुकानदार एक दिन छोड़कर दूसरे दिन माल मंगाए. इसके बारे में दुकानदारों के लिए दिन तय करने की योजना बनाई जा रही है.