Onion

    राजीत यादव

    नवी मुंबई. नई फसल (New Crop) के तैयार नहीं होने की वजह से वाशी (Vashi) स्थित एपीएमसी (APMC) की आलू-प्याज की मंडी में जहां प्याज (Onion) की आवक घटने का सिलसिला जारी है, वहीं थोक में इसके दाम में हर दिन उछाल आने का सिलसिला भी जारी है। जिसकी वजह से अब थोक में इसे 20 से 45 रुपए किलो तक पहुंच गया है। इसके पहले थोक में इसकी कीमत 15 से 42 रुपए किलो थी। थोक में प्याज का दाम बढ़ने की वजह से अब खुदरा बाजार में ग्राहकों को लुटने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। थोक में इसे 30 से 60 रुपए किलो में बेचा जा रहा है।    

    एपीएमसी की आलू-प्याज की मंडी में थोक में कारोबार कर रहे मनोहर तोतलानी के अनुसार, सोमवार को मंडी में महाराष्ट्र और गुजरात से 18 हजार 876 बोरी प्याज की आवक हुई। जिसमें से महाराष्ट्र के वीआईपी दर्जे की प्याज को थोक में 42 से 45 रुपए किलो बेचा गया। वहीं1 नंबर की प्याज को 38 से 41 रुपए किलो का दाम मिला, जबकि 2 नंबर की प्याज को 34 से 37 रुपए, 3 नंबर को 30 से 33 रुपए, 4 नंबर को 26 से 29 रुपए व 5 नंबर की प्याज को 20 से 25 रुपए किलो का दाम मिला। 

    गुजरात का प्याज भी हुआ महंगा

    वहीं गुजरात से आया वीआईपी दर्जे का प्याज थोक में 38 से 40 रुपए किलो बेचा गया। जबकि 1 नंबर के प्याज को 35 से 37 रुपए, 2 नंबर 31 से 34 रुपए, 3 नंबर 27 से 30 रुपए, 4 नंबर 24 से 26 रुपए व 5 नंबर की प्याज को 18 से 23 रुपए किलो का दाम मिला।

    मंडी में आया 32 हजार 96 बोरी आलू

    वाशी स्थित एपीएमसी की आलू-प्याज की मंडी में जहां एक ओर प्याज की आवक घट रही है। वहीं दूसरी ओर आलू की आवक लगातार बढ़ रही है। सोमवार को मंडी में 32 हजार 96 बोरी आलू की आवक हुई। इसके पहले मंडी में 17 हजार 609 बोरी आलू की आवक हो रही थी। आवक बढ़ने की वजह से थोक में इसका दाम स्थित हो गया है। सोमवार को मंडी में यूपी से आया आलू 6 से 9 रुपए किलो बेचा गया।वहीं गुजरात और पंजाब के आलू को 7 से 10 रुपए किलो का दाम मिला।जबकि मध्य प्रदेश के आलू को थोक में 10 से 15 रुपए किलो का दाम मिला। वहीं महाराष्ट्र के तलेगांव के आलू को थोक में 9 से 10 रुपए किलो बेचा गया।

    लहसुन के दाम में गिरावट

    आलू की तरह ही मंडी में लहसुन की आवक में भी भारी इजाफा हुआ है। जिसके चलते थोक में इसके दाम में भारी गिरावट आई है। सोमवार को मंडी में 3 हजार 414 बोरी लहसुन की आवक हुई इसके पहले मंडी में 2 हजार 473 बोरी लहसुन की आवक हो रही थी। पहले 75 से 85 रुपए किलो में बिकने वाले वीआईपी दर्जे के देशी लहसुन को सोमवार को थोक में 45 से 65 रुपए किलो बेचा गया। जबकि जबकि सामान्य देशी लहसुन को 25 से 45 रुपए किलो का दाम मिला। वहीं उटी से आए वीआईपी दर्जे के नए लहसुन को थोक में 100 से 110 रुपए किलो का दाम मिला। जबकि यहां से आए सामान्य दर्जे के लहसुन को 50 से 90 रुपए किलो बेचा गया।